उलटी दिशा में बगैर ड्राइवर दौड़ने लगी ट्रेन, टोकन पोर्टर 24 किलोमीटर तक हवा में झूलता रहा

उलटी दिशा में बगैर ड्राइवर दौड़ने लगी ट्रेन, टोकन पोर्टर 24 किलोमीटर तक हवा में झूलता रहा

रांची/चक्रधरपुर। मुंबई हावड़ा मुख्य लाइन पर एक बड़ा हादसा होने से बच गया। यहां चक्रधरपुर रेल मंडल में मंगलवार देर शाम बिना ड्राइवर के मालगाड़ी सौ की स्पीड में पीछे के तरफ दौड़ने लगी। जिसके बाद रेल महकमे में हड़कंप मच गया। गाड़ी के पीछे की तरफ चलने के कारण चार डिब्बे पटरी से उतर गए। सूचना मिलते ही राहतकार्य के लिए बंडामुंडा रेलवे यार्ड से क्रेन समेत अधिकारियों व इंजीनियरों की टीम बिमलगढ़ पहुंंची.

बताया गया कि रेलवे यार्ड से ये मालगाड़ी आयरन अयस्क लेकर राउरकेला आ रहा थी. इस दौरान बरसुआ रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी खड़ी थी. अचानक मालगाड़ी पीछे की तरफ चलने लगी और बिमलगढ़ रेलवे स्टेशन की तरफ बढ़ने लगी. इस दौरान इंजन में टोकन पोर्टर मौजूद थे। जो इंजन के साथ बिमलगढ़ पहुंच गया। इस दौरान वह 24 किलोमीटर तक हवा में झूलता रहा। जिसके कारण उसे कई जगहों पर चोटें आई हैं।  वहीं इस दौरान बरसुआ रेलवे यार्ड पर ड्यूटी में तैनात कर्मी हादसे में घायल हो गया. दोनों को इलाज के लिए बिमलगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

खुली हुई थी सारी क्रॉसिंग

 बताया जाता है कि इस दौरान ट्रेन करीब 100 की रफ्तार से दौड़ने लगी थी. ट्रेन बरसुआ से बिमलगढ़ रेलवे स्टेशन तक रोल होकर जाने के दौरान करीब छह रेलवे क्रॉसिंग को पार कर गई थी. कोई ट्रेन नहीं आने के कारण सारे क्रॉसिंग भी खुले हुए थे। गनिमत यह रही कि इसके बाद भी किसी भी क्रॉसिंग पर कोई हादसा नहीं हुआ। 

चार डिब्बे पटरी से उतरे

उलटी दिशा में बिना ड्राइवर की मालगाड़ी तब रुकी, जब उसके चार डिब्बे पटरी से उतर गए। जिसके कारण रुट में रेल यातायात बाधित हो गया। सूचना मिलते ही राहतकार्य के लिए बंडामुंडा रेलवे यार्ड से क्रेन समेत अधिकारियों व इंजीनियरों की टीम बिमलगढ़ पहुंंची. फिलहाल रेल अधिकारियों ने इस पूरे हादसे की जांच कराने के निर्देश दिए हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News