केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने भाजपा ओबीसी मोर्चा के खुला अधिवेशन को किया संबोधित, पढ़िए पूरी खबर

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने भाजपा ओबीसी मोर्चा के खुला अधिवेशन को किया संबोधित, पढ़िए पूरी खबर

KHAGARIA : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में देश की सीमा पर तैनात जवानों में नई उत्साह के साथ-साथ ऊर्जा का संचार हुआ है। प्रधानमंत्री ने अपने जवानों को स्पष्ट शब्दों में कह दिया है कि देश की सुरक्षा पर नजर लगाने वालों के विरूद्ध भारत माता की जय घोष ही जवानों के लिए आदेश है। आज खगड़िया शहर के अटल सभागार टॉउन हाल में आयोजित भाजपा ओबीसी मोर्चा के खुला अधिवेशन को संबोधित करते हुए गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने ये बातें कही। उन्होनें कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार लगातार पिछड़ा-अतिपिछड़ा को मजबूत करने तथा उन्हें आत्म निर्भर बनाने की दिशा में प्रयासरत है। उन्होनें कहा कि केन्द्र सरकार के द्वारा चलाये जा रहे जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाई जा रही है। इसके लिए व्यापक स्तर पर सभी योजनाओं को धरातल पर लाने के लिए प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। 

उन्होने कहा कि ओबीसी समाज पूरी मजबूती के साथ भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़ी है। ओबीसी मोर्चा संगठित है जिनमें एकजुटता भी देखने को मिल रही है। उन्होनें कहा कि सरकार अपने चुनावी वायदों के अनुसार अपना काम निरंतर रूप से कर रही है। उन्होनें कहा कि देश में बड़ी समस्या के रूप में 370 धारा मुहं बाये खड़ी थी। जिसकों 70 वर्षों के दौरान पिछले सरकार के द्वारा अपनी राजनीति को बेहतर बनाने के दिशा में उन्होनें 370 धारा पर किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के केन्द्र सरकार में आते ही सबसे पहले सभी नेताओं ने सर्वसम्मति से पिछड़े वर्ग के बेटा को प्रधानमंत्री के रूप में चुना। दूर दृष्टि, पक्का इरादा रखने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 370 धारा को मक्का के बाली की तरह मरोड़ दिया। इतना ही नहीं उन्होनें अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सर्वसम्मति से भूमि पूजन के साथ-साथ राम मंदिर निर्माण के अपने संकल्प को आम लोगों के समक्ष रख दिया है। 

वहीँ पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी खुले अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि देश के एक भी गरीब पिता के पुत्र को ईलाज कराने के लिए दर-दर भटकना नहीं पडेगा। क्योंकि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गरीबी की दंश झेलते हुए गरीबों के कल्याण के लिए आयुष्मान भारत योजना को धरातल पर लाते हुए गरीब बेटों के लिए प्रत्येक परिवार को स्वास्थ्य बीमा योजना से जोड़ते हुए 5 लाख रूपये तक का ईलाज किसी भी सरकारी व गैरसरकारी अस्पताल में किये जाने का निर्णय लिया है। आज देश के लगभग 50 लाख लोग इस योजना लाभ उठा रहे हैं। इतना ही नहीं उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री ने एक मजबूत भारत का सपना देखा था और अब उनके नेतृत्व में उनका सपना साकार होते दिख रहा है। क्योंकि देश के इतिहास का पाठ्यक्रम बदल गया है। देश आत्मनिर्भर की ओर तत्पर है।  भारत देश में दबे कुचले अंतिम पंक्ति में रहने वाले लोगों को पहले पंक्ति में पहले पंक्ति में लाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 49 ओबीसी समुदाय के नेताओं को विभिन्न राज्यों में मंत्री पद देते हुए अन्य मोर्चाओं को खुली चुनौती के समान है।

खगड़िया से अनिश कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News