मोतिहारी में पुलिस इंस्पेक्टर की अनोखी पहल : मजदूर दिवस पर 20 मोचियों को देंगे 20 आवश्यक सामानों से भरा बैग, शहर में घूम-घूमकर हो रहा सर्वे

मोतिहारी में पुलिस इंस्पेक्टर की अनोखी पहल : मजदूर दिवस पर 20 मोचियों को देंगे 20 आवश्यक सामानों से भरा बैग, शहर में घूम-घूमकर हो रहा सर्वे

मोतिहारी. बिहार में पुलिसकर्मी कई कारनामों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं, लेकिन इससे इतर बिहार के एक पुलिस पदाधिकारी की अनोखी पहल की चर्चा शहर में जोड़ो पर है। मोतिहारी जिला में पोस्टेड एक सर्किल इंस्पेक्टर ने मजदूर दिवस पर एक मई को समाज के सबसे निचले पायदान पर रहने वाले मजदूर की मदद करने की योजना बनायी है। अरेराज सर्किल के पुलिस इंस्पेक्टर उपेंद्र कुमार ने शुक्रवार को शहर में घूमकर मोची की कार्य कर रहे मजदूर को सूचीबद्ध किया गया है। वहीं मोची की दुकान में काम करने वाले लोगों में आवश्यक समान की किट वितरण करने की घोषणा की गयी है। अरेराज अनुमंडल क्षेत्र के 20 मोची मजदूर को एक मई को सर्किल इंस्पेक्टर द्वारा छतरी, बैठने की सीट, ग्राउंड सीट, ब्राश व पॉलिश सहित आवश्यक 20 सामग्रियों से भरा बैग दिया जाएगा।

मजदूर दिवस पर 20 मोचियों के बीच करेंगे किट वितरण

मोतिहारी पुलिस मजदूर दिवस पर 20 मोचियों के बीच एक वर्ष के व्यवसाय के लिए सामग्री से भरा किट देने की घोषणा की चर्चा जोड़ो पर पर है। जिला के अरेराज अनुमंडल के सर्किल इंस्पेक्टर उपेंद्र कुमार मजदूर दिवस पर 20 मोचियों को एक वर्ष की आवश्यक सामग्री किट देंगे। शुक्रवार को सर्किल इंपेक्टर द्वारा शहर में घूम घूमकर मोची की कार्य में लगे मजदूर की सूची बनायी गयी। वहीं एक वर्ष में दुकान पर लगने वाले समान की भी सूची बनायी गयी हैं। वहीं उनलोगों को होने वाले परेशानी की भी जनकारी ली गयी है। मोची की सर्वे के बाद पुलिस विभाग की इस सराहनीय कार्य की चर्चा जोड़ो पर है।

अरेराज सर्किल इंस्पेक्टर उपेंद्र कुमार ने बताया कि दो वर्ष से कोरोना को लेकर लगे लॉकडाउन के कारण कई मोची के व्यवसाय बंद होने के कगार पर था। इसलिए मजदूर दिवस पर शहर के 20 मोची को एक वर्ष के व्यवसाय के लिए आवश्यक समान देने का फैसला किया गया है। शहर के सभी मोची की सूची बनायी गयी है। वहीं मोचियों को एक वर्ष में लगने वाले पॉलिश, ब्रश, काटी, छतरी, ग्राउंड सीट सहित सभी सामग्री भरा बैग दिया जाएगा। एक वर्ष तक उसे व्यवसाय के लिए कोई सामग्री खरीदना नहीं पड़ेगा। दुकान से हुए आमदनी से मोची घर खर्च व बच्चों के शिक्षा में खर्च करेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News