यूपी विधानसभा चुनाव: अखिलेश की 'विजय यात्रा' को खजांची ने दिखाई हरी झंडी, जानिये कौन है खजांची, जो अखिलेश के हर शुभ काम में साथ रहता है

यूपी विधानसभा चुनाव: अखिलेश की 'विजय यात्रा' को खजांची ने दिखाई हरी झंडी, जानिये कौन है खजांची, जो अखिलेश के हर शुभ काम में साथ रहता है

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने अपनी विजय रथ यात्रा को शुभारंभ कर दिया है, लेकिन बड़ी बात यह है कि इस यात्रा को हरी झंडी खजांची ने दिखाई है. जाहिर सी बात है सबके मन में यह बात चल रही होगी कि आखिर यह खजांची है कौन? जिसने समाजवादी पार्टी के विजय रथ को हरी झंडी दिखाया. यूं तो खजांची हर मौके पर समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव के साथ दिख जाता है, लेकिन उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले रवाना हो रहे विजय रथ की हरी झंडी भी खजांची ने ही दिखाई.

बता दें कि खजांची एक 4 साल का बच्चा है, जिसे अखिलेश यादव के साथ प्रमुख मौकों पर देखा जाता है. खजांची का परिचय यह है कि उसका जन्म नोटबंदी के दौरान हुआ था. जब पूरे देश में प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था. उस दौरान एक महिला पैसा निकालने के लिए एटीएम के सामने खड़ी थी. उसी दौरान उसे लेबर पेन शुरू हुआ. फिर एक बच्चे का जन्म हुआ, जिसका नाम खजांची रखा गया. उसके बाद से लगातार खजांची प्रमुख मौकों पर अखिलेश यादव के साथ दिखई देता है.


आप इसे सियासी खजांची भी कर सकते हैं. चुकी नोटबंदी के मसले पर पूरा विपक्ष नरेंद्र मोदी के खिलाफ खड़ा हो गया था. ना जाने कितने लोगों की मरने की बात उस दौरान की गई थी. इसी दौरान कई लोगों के साथ ऐसा भी हुआ कि जब वह पेटीएम-एटीएम के सामने पैसे निकालने के लिए खड़े थे. उस दौरान उनकी मौत भी हो गई थी, जिसे सियासी मुद्दा बनाया गया था. इसी दौरान एक महिला जब नोटबन्दी के दौरान एटीएम के ठीक सामने एक बच्चे को जन्म देती है, उसे भी सियासत का एक मोहरा बना दिया जाता है और उसी सियासत के मोहरा के तौर पर खजांची को देखा जा रहा है.

नोटबंदी जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे को अखिलेश यादव हर मौके पर भुनाना चाहते हैं. संभवतः इसी का परिणाम है कि जब उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 के लिए विजय रथ रवाना होना था, तो खजांची ने हीं हरी झंडी दिखाई, ताकि नोटबंदी जैसे मुद्दे को जनता के बीच में जिंदा रखा जाए. खैर यह तो वक्त बताएगा कि समाजवादी पार्टी का विजय रथ जिसे खजांची ने झंडा दिखाया वह 2022 के विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के खजाने कितना वोट दिलवा पाने में सफल होता हो पाता है. कितनी सीटों पर समाजवादी पार्टी कामयाब हो पाती है.

सत्ता की कुर्सी तक पहुंच पाती है या फिर दूर रह जाती है. कुल मिलाकर देखा जाए तो कहा जा सकता है कि योगी को टक्कर देने के लिए निकला विजय रथ, जिस पर अखिलेश सवार होकर खजांची के हरि झंडी दिखलाने के बाद बड़े ही विश्वास के साथ सत्ता की कुर्सी तक पहुंचने के लिए निकल चुके हैं. वह सियासी मुद्दों को मुकाम तक पहुंचाने का भरसक प्रयास करेगा.

Find Us on Facebook

Trending News