यूपी में लाखों का ईंट और अन्य सामान गायब, टेंडर लेने वाले ठेकेदार को कुछ पता नहीं है

यूपी में लाखों का ईंट और अन्य सामान गायब, टेंडर लेने वाले ठेकेदार को कुछ पता नहीं है

Desk: कुशीनगर के नगर पंचायत खडडा प्रशासन की घोर लापरवाही सामने आई है. पुराने भवन को निष्प्रयोज्य मान ध्वस्त कराने के बाद उसमें निकले लाखों रूपये के अवशेष ईंट व अन्य सामग्री आपसी मिली भगत से गायब कर दिया गया. शिकायत हुई तो डीएम ने जांच ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को सौंप दी. गर्दन फंसता देख नगर पंचायत प्रशासन आनन फानन में ठेकेदार को नोटिस भेज नुकसान की भरपाई के लिए कह रहा है. सबसे मजेदार बात तो यह है कि ठेकेदार को पता ही नहीं कि उसके फर्म पर काम किसने कराया है.


नगर पंचायत खडडा में स्थापित पुराने नगर पंचायत भवन को जर्जर बताते हुए इसे ध्वस्त करने का  टेंडर जारी हुआ था इसमे ठेकेदार को ध्वस्त करके वहां जमीन का बाउंड्री कराना था. उक्त भवन को तोड़कर वहां बाउंड्री करा दिया गया है. शिकायतकर्ताओ ने आरोप लगाया कि लगभग 90 हजार सही ईंट व टुकड़ा, सरिया, जंगला, फाटक, दरवाजा आदि लाखों का कीमती सामान मिली भगत कर बेच दिया गया. नियम के मुताबिक नगर पंचायत प्रशासन द्वारा उक्त सामानों का नीलामी कराकर मिलने वाली राशि सरकारी कोष में जमा करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं किया गया.

इस संबंध में इओ देवेश मिश्रा का कहना है कि ठेकेदार द्वारा थोड़ा सा टुकड़ा पहुंचाया गया शेष पता नहीं क्या किया गया. ठेकेदार को नोटिस भेजा गया है.


इस मामले में ठेकेदार शैल राव ने बताया कि टेंडर की शर्तो में यह कहीं नहीं लिखा था कि ध्वस्त के बाद सामानो को पहुंचाना है. यह जिम्मेदारी नगर पंचायत की है. असल में यह टेंडर हमारे फर्म पर जरूर हुआ है परंतु काम कौन कराया हमें पता नहीं. इससे हमारा कोई लेना देना नहीं है. नगर पंचायत के लोग ही बताएंगे कि काम किसने कराया.

Find Us on Facebook

Trending News