व्हाटस अप पर चल रही फोटो के जरिए पुलिस ने बरामद किया तेंदुए का खाल, एसपी ने कहा - कई राज्यो तक फैला है जाल

व्हाटस अप पर चल रही फोटो के जरिए पुलिस ने बरामद किया तेंदुए का खाल, एसपी ने कहा - कई राज्यो तक फैला है जाल

कैमुर। जिले में जानवरों के खाल की तस्करी लगातार बढ़ती जा रही है। जिसको लेकर पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। बुधवार को भी पुलिस ने एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। जिसके पास से पुलिस ने तेंदुए की खाल बरामद की है। मामले में एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि तस्करों का जाल देश के कई राज्यों तक फैला है और यहां से दूसरे राज्यों में सप्लाई का काम किया जाता है। फिलहाल पूरे मामले की जांच की जा रही है। 

एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि उक्त कार्रवाई अधौरा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके में की गई है। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले जानवरों की खाल की तस्करी करनेवाले एक गिरोह को पकड़ा गया था। जिनके पास बरामद मोबाइल में व्हाटस अप तेंदुए की खाल तस्वीर शेयर की गई थी. जिसके बाद से पुलिस की टीम लगातार नजर गड़ाए हुए थी। इसी मामले में जानकारी मिली कि खाल के साथ तस्कर को अधौरा इलाके में देखा गया है, जिसके बाद पुलिस की टीम कार्रवाई के लिए पहुंची थी। इसके पहले भी कैमूर एसपी ने अधौरा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके से लगभग आधा दर्जन जंगली जानवरों के अंगों का तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था। जिसमें कई जानवरों के दांत, बाल, पैंगोलिन का छाल, हिरण का कस्तूरी सहित कई अंग बरामद हुए थे। उस समय भी कुछ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। उसके कुछ सदस्य फरार थे जिसकी आज गिरफ्तारी हुई है।

डिस्कवरी चैनल का कोडवर्ड करते थे इस्तेमाल


एसपी ने बताया तस्करों का गिरोह कोडवर्ड में डिस्कवरी चैनल शब्द का प्रयोग करते थे। फिलहाल इस बात की छानबीन की जा रही है कि इस कोडवर्ड का मतलब क्या है। उन्होंने बताया कि जानवरों के खाल की तस्करी के लिए तस्करी जंगली इलाकों में रहनेवाले लोगों को बहला फुसलाकर अपना काम करते हैं। हालांकि उन्होंने तस्करी में वन विभाग के किसी कर्मी की संलिप्तता की बात से इनकार किया है। एसपी ने बताया कि अभी इस बात के कोई  सबूत नहीं मिले हैं कि वन विभाग या पुलिस का कोई कर्मी इस मामले में शामिल है। 

Find Us on Facebook

Trending News