निगरानी ब्यूरो ने 1.02 लाख रिश्वत लेते दो इंजीनियरों को किया गिरफ्तार, सहायक अभियंता के घर से 6.5 लाख नगद भी बरामद

निगरानी ब्यूरो ने 1.02 लाख रिश्वत लेते दो इंजीनियरों को किया गिरफ्तार, सहायक अभियंता के घर से 6.5 लाख नगद भी बरामद

पटना. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने दो इंजीनियरों को एक लाख दो हजार रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। सुपौल के त्रिवेणीगंज में ग्रामीण कार्य विभाग में कार्यरत सहायक अभियंता हेमचंद्र लाल कर्ण को 62 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार किया गया है, जबकि अररिया के सिकटी में ग्रामीण कार्य विभाग में कार्यरत फुलेश्वर रजक को 40 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है।

नालंदा के हिलसा के गणपत विगहा निवासी शिव कुमार वर्मा ने निगरानी ब्यूरो में 8 जुलाई 2022 को शिकायत दर्ज करवाई थी कि अनुमंडल पदाधिकारी करण बाबू और कनीय अभियंता फुलेश्वर रजक कार्य के भुगतान के लिए रिश्वत मांग रहे हैं। इस पर ब्यूरो ने मामले का सत्यापन कराया। करण बाबू द्वारा 62 हजार रुपये एवं फुलेश्वर रजक द्वारा 40 हजार रुपये रिश्वत मांगे जाने का प्रमाण पाया गया। इसके बाद दोनों पर कार्रवाई के लिए धावा दल का गठन किया गया।

6.5 लाख नगद बरामद

पुलिस उपाधीक्षक अरुण पासवान के नेतृत्व में धावा दल ने सहायक अभियंता हेमचंद्र लाल कर्ण को 62 हजार रिश्वत लेते अररिया के आदर्शनगर स्थित किराए के माकान से और फुलेश्वर रजक को 40 हजार रुपये घुस लेते अररिया के मारवाड़ी पट्टी स्थित कार्यालय से रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। तलाशी के दौरान सहायक अभियंता हेमचंद्र लाल कर्ण के आवास से 6 लाख 50 हजार अतिरिक्त राशि बरामद की गयी है। इसकी जांच की जा रही है। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। इसके बाद दोनों को निगरानी न्यायालय भागलपुर में पेश किया जाएगा।

नरकटियागंज में सात हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार

गौनाहा प्रखण्ड के आईसीडीएस आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिका रेणु कुमारी के पति राजेश गुप्ता को उनके निवास स्थान नरकटियागंज से निगरानी के टीम ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। धमौरा पंचायत के आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 159 की सेविका से सात हजार रुपए रिश्वत की मांग किया था। इसका सत्यापन के बाद निगरानी टीम नरकटियागंज पहुंच कर रिश्वत लेते हुए उनके आवास से रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।


Find Us on Facebook

Trending News