आयुष चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति के बाद विरोध में उतरे एमबीबीएस डॉक्टर, 11 दिसंबर को बंद का किया एलान

आयुष चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति के बाद विरोध में उतरे एमबीबीएस डॉक्टर, 11 दिसंबर को बंद का किया एलान

NALANDA : केंद्र सरकार द्वारा अप्रशिक्षित आयुर्वेद स्नातकों को शल्य चिकित्सा प्रकिया की अनुमति दिए जाने के विरोध में बिहारशरीफ के आईएमए हॉल में चिकित्सकों ने बैठक कर आगे की रणनीति तय की. इस मौके पर आईएमए के जिलाध्यक्ष डॉ सुनील कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा आयुष चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति दी गई है. 

जिसका हमलोग विरोध जताते  है. एक चिकित्सक एमबीबीएस के बाद 3 वर्षो का कोर्स करने के बाद ही सर्जरी करते है. जबकि आयुष चिकित्सक एमबीबीएस की पढ़ाई नहीं करते हैं. ऐसे चिकित्सकों को सरकार महज 6 माह का कोर्स कराकर सर्जरी करने की अनुमति दे रही है. इन मुद्दों को लेकर देश के सारे चिकित्सक एकजुट हैं. 

आगामी 11 दिसंबर को आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर जिले के सभी क्लिनिक बंद रहेंगे. अगर सरकार अनुमति को वापस नहीं लेती है तो हम लोग आगे भी आंदोलन जारी रखेंगे. इसके साथ ही 11 दिसंबर को विम्स के सभी जूनियर डॉक्टर धरना प्रदर्शन करेगें. 

नालंदा से राज की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News