जल जीवन हरियाली का दिखा असर, बिहार में ग्राउंड लेवल वाटर में आया सुधार

जल जीवन हरियाली का दिखा असर, बिहार में ग्राउंड लेवल वाटर में आया सुधार

डेस्क...  राज्य के अधिकतर प्रखंडों के ग्राउंड वाटर लेवल में दिसंबर 2019 की तुलना में दिसंबर 2020 में सुधार हुआ है। इसकी पुष्टि लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग (पीएचइडी) और लघु जल संसाधन विभाग में टेलीमेटरी (भू-जल स्तर नापने वाला यंत्र) की रिपोर्ट के आधार पर हुई है। ग्राउंड वाटर लेवल में सुधार का कारण वर्ष 2020 में माॅनसून के दौरान एक जून से 15 अक्तूबर तक राज्य में करीब 1100 मिमी बारिश का होना है। 

राज्य के अधिकतर प्रखंडों के ग्राउंड वाटर लेवल में दिसंबर 2019 की तुलना में दिसंबर 2020 में सुधार हुआ है। इसकी पुष्टि लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग (पीएचइडी) और लघु जल संसाधन विभाग में टेलीमेटरी (भू-जल स्तर नापने वाला यंत्र) की रिपोर्ट के आधार पर हुई है।

ग्राउंड वाटर लेवल में सुधार का कारण वर्ष 2020 में माॅनसून के दौरान एक जून से 15 अक्तूबर तक राज्य में करीब 1100 मिमी बारिश का होना है। टेलीमेटरी की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर बिहार के लगभग सभी जिलों के अधिकतर प्रखंडों में ग्राउंड वाटर लेवल में सुधार हुआ है। वहीं, दक्षिण बिहार के कुछ जिलों के कुछ प्रखंडों में वाटर लेवल में कमी भी दर्ज की गई है। एक साल के दौरान पटना जिला के बाढ़ प्रखंड में 1.3 मीटर, बिहटा में दो मीटर, बख्तियारपुर में दो मीटर और पटना सदर में एक मीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 

औरंगाबाद जिला के ओबरा प्रखंड में ग्राउंड वाटर लेवल में करीब तीन मीटर की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, औरंगाबाद के कुछ प्रखंडों में ग्राउंड वाटर लेवल घटा भी है. वहीं, अरवल जिले के अरवल डीएम ऑफिस प्रखंड में करीब एक मीटर की बढ़ोतरी हुई है।

नालंदा जिले के अस्थावां प्रखंड में करीब नौ मीटर, नूरसराय और रहुई में करीब नौ-नौ मीटर, नालंदा हेडक्वार्टर में आठ मीटर की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, नवादा जिले के नवादा प्रखंड में चार मीटर और नवादा डीएम ऑफिस में चार मीटर की बढ़ोतरी हुई है। रोहतास जिले के अखोरीगोला में तीन मीटर की बढ़ोतरी हुई है।

गया जिले के बेलागंज में 0.8 मीटर, गुरुआ में 2.6मीटर, गुरारु में 1.2 मीटर, खिज्रसराय में 0.5 मीटर, टिकारी में करीब एक मीटर, बांके बाजार में करीब दो मीटर, डोभी में करीब 1.24 मीटर, गया हेडक्वार्टर में 1.47 मीटर और गया में करीब 1.57 मीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

जहानाबाद जिले के जहानाबाद डीएम हाउस प्रखंड में एक मीटर और मखदुमपुर में करीब एक मीटर की बढ़ोतरी हुई है। जमुई जिले के अलीगंज प्रखंड में 2.88 मीटर, गिद्धौर में 1.03 मीटर, खैरा में 8.50 मीटर और लक्ष्मीपुर में करीब तीन मीटर की बढ़ोतरी हुई है। कैमूर जिला के कुद्रा में नौ मीटर, दुर्गावती में 2.91 मीटर, अधौरा में चार मीटर और भभुआ में 2.4 मीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

Find Us on Facebook

Trending News