खुशी की जगह मातम ! जिस घर से उठनी थी बहन की डोली, उस घर से उठी भाई की अर्थी

खुशी की जगह मातम ! जिस घर से उठनी थी बहन की डोली, उस घर से उठी भाई की अर्थी

BHAGALPUR : सहौरा गांव में जिस घर से बहन की डोली उठनी थी, उस घर से बुधवार को चचेरे भाई की अर्थी उठी। मंगलवार की देर रात दूल्हा बदलने को लेकर हुए विवाद में वर-वधू पक्ष के बीच पहले मारपीट हुई थी, फिर दुल्हन के चचेरे भाई राजू यादव की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। बुधवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद परिजनों ने राजू का अंतिम संस्कार कर दिया। परिजनों ने 9 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें कोकण यादव, उसके पुत्र हीरालाल यादव, मुकेश यादव, सौरभ कुमार, रणवीर यादव, सुलेखा देवी, सविता देवी शामिल हैं। पुलिस ने घटनास्थल से एक खोखा और एक विंडोलिया भी बरामद किए हैं।

अंजलि बोली-मेरी शादी तो हुई नहीं, भाई भी दुनिया से चला गया

कैलाश यादव की पुत्री अंजलि ने कहा कि मेरी शादी तो हुई नहीं, चचेरा भाई भी इस दुनिया से चला गया। वह घर के एक कोने में गुमसुम बैठी हुई थी। काफी पूछने पर वह फफक-फफक कर रोने लगी। फिर कहा, मेरी तो दुनिया उजड़ गई। शादी से पहले ही चचेरे भाई की भी हत्या कर दी गई। आखिर इसमें उनका क्या दोष था। अब मुझसे कौन शादी करेगा। अंजलि ने हाथों की मेहंदी दिखाते हुए कहा कि शायद ही अब मेरे हाथों में मेहंदी की रंग चढ़े। वहीं अंजलि के घर में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।

पति की हत्या के बाद बार-बार बेहोश हो रही थी पत्नी

कैलाश यादव की पुत्री अंजलि की बारात खगड़िया के बन्देहरा से आई थी। लड़की वालों ने दूल्हे को देख बदलने का आरोप लगा शादी करने से इनकार कर दिया था। इसी बीच दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई, फिर राजू की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। राजू की पत्नी स्वीटी मायके में थी। पति की हत्या के बाद वह पिता के साथ ससुराल पहुंची और शव से लिपट कर रोने लगी। वह बार-बार बेहोश हो रही थी।


Find Us on Facebook

Trending News