ये कैसा सुशासन राज जहां सात समंदर पार से प्रोफेसर बिटिया रिटायर्ड पिता के लिए CM से मांग रही इंसाफ....सरकार ने दिया ये जवाब

ये कैसा सुशासन राज जहां सात समंदर पार से प्रोफेसर बिटिया रिटायर्ड पिता के लिए CM से मांग रही इंसाफ....सरकार ने दिया ये जवाब

PATNA: बिहार में भले ही सुशासन राज के दावे किये जाते हों लेकिन हकीकत यही है कि चहुंओर अराजकता की स्थिति है। इस राज में भू माफियाओं और शऱाब माफियाओं से आमलोग त्राहिमाम कर रहे । राज्य की स्थिति ऐसी हो गई है कि अगर आपके पास जमीन है और लड़ने की ताकत नहीं हैं तो आपकी संपत्ति पर भू माफिया कब्जा कर सकते हैं।सुशासन की पुलिस भी आपको कोई मदद नहीं करेगी ।लिहाजा मजबूरन आप भू-माफियाओं के आगे सरेंडर कर देंगे। स्थिति देखिए कि सात समंदर पार से एक महिला प्रोफेसर ने अपनी संपत्ति बचाने को लेकर गुहार लगाई है। 

स्वीडन के गोथेनबर्ग यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर स्वाति पाराशर ने बिहार सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई है. स्कूल ऑफ ग्लोबल स्टडीज में शांति और विकास की प्रोफेसर स्वाति पराशर ने ट्विट कर सीएम नीतीश कुमार से शिकायत की है। मधुबनी में जन्मी स्वाति ने सरकार से अपनी जमीन बचाने के लिए मदद मांगी है। उन्होंने कहा है कि उनकी जमीन पर लाल झंडे की आड़ में कुछ लोगों ने जबरन अतिक्रमण कर लिया है। स्वाति पाराशर ने लिखा है कि पुलिस जब हटाने के लिए पहुंची तब लोगों ने पुलिस पर हमला करते हुए पत्थर और लाठी से प्रहार कर दिया.


बता दें, मधुबनी की स्वाति पाराशर के पिता अरविंद झा ने दशकों तक नौकरी करने के बाद हाल ही में मधुबनी स्थित अपने पैतृक गांव में ऑर्गेनिक फार्मिंग और मखाने का कारोबार करने का प्लान बनाया.  इस काम में रिटायर्ड अधिकारी का बेटा व स्वाति के भाई जो दिल्ली की एक मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करते थे उसे छोड़कर पिता के साथ गांव आ गये। बाप-बेटे गांव में अपनी जमीन पर हाईटेक तरीके से खेती करने के मकसद से पहुंचे । लेकिन यहां आने के बाद तो उन्हें सुशासन की असली तस्वीर देखने को मिल गई। उनकी जमीन जिस पर खेती करने के मकसद से पहुंचे थे उस पर लाल झंडा लिए कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया. भू माफिया जमीन छोड़ने को तैयार नहीं हुए इसके बाग सात-समंदर पार से स्वाति ने सीएम नीतीश कुमार से ट्विटर के माध्यम से मदद की गुहार लगाई।

मंत्री ने दिया जवाब
स्वाति पारासर ने जब ट्वीट किया तो सरकार के मंत्री ने इसका जवाब दिया। मिथिलांचल इलाके से आने वाले और बिहार सरकार के जल संसाधन और सूचना जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने ट्वीट को रिट्वीट करते हुए जवाब दिया।  दिया है. उन्होंने लिखा कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है और उन्होंने मधुबनी के डीएम से इस पूरे मसले पर बातचीत की है.मंत्री ने कहा कि उन्होंने इस मामले में कार्रवाई का आदेश दिया है.मंत्री संजय झा के जवाब पर स्वाति ने फिर से ट्वीट ककर लिखा कि जनप्रतिनिधियों को आम लोगों को आश्वस्त करना चाहिए कि उन्हें सुना जा रहा है और आपके इस पहल से निश्चित तौर पर थोड़ी राहत महसूस हुई है. अब देखना होगा सात-समंदर पार से प्रोफेसर की गुहार का सरकार कितना संज्ञान लेती है और इनके पिता की जमीन छुड़वा पाने में सफल हो पाती है या नहीं।

Find Us on Facebook

Trending News