मंदिर हो या मस्जिद अब कहीं नहीं बजेगा लाउड- स्पीकर, योगी सरकार के फरमान से न सुनाई देगा अजान ना ही भजन

मंदिर हो या मस्जिद अब कहीं नहीं बजेगा लाउड- स्पीकर, योगी सरकार के फरमान से न सुनाई देगा अजान ना ही भजन

DESK. अजान और लाउडस्पीकर विवाद को लेकर देश के कई राज्यों में चल रही तनातनी के बीच उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नीत भाजपा सरकार से साफ कर दिया है कि राज्य में तेज आवाज में न तो अजान बजाया जा सकता है और ना ही भजन बजेंगे. योगी सरकार के इस निर्देश का असर भी दिखना शुरू हो गया है और धार्मिक स्थलों में तेज आवाज में बजने वाले कई लाउडस्पीकर अब उतरने लगे हैं. अजान से शुरू हुआ विवाद अब मंदिरों की चौखट तक भी पहुंच गया है और कई मस्जिद और मंदिरों के शिखर से या तो लाउडस्पीकर उतर गये हैं या फिर अब उनकी आवाज बेहद धीमी हो गई है. 

योगी सरकार ने यूपी में मंदिर-मस्जिद सहित सभी धर्मस्‍थलों पर तय मानकों के मुताबिक लाउडस्पीकर बजाने कहा है. किसी भी धर्म स्थल के लाउडस्पीकर से ध्वनि प्रदूषण न हो और नियमों का उल्लंघन न होने पाए इकसा विशेष ध्यान देने कहा गया है. इसी को लेकर सूत्रों का कहना है राज्य में अब तक 100 से अधिक लाउडस्पीकर उतारे जा चुके हैं. वहीं हजारों की आवाज कम हो चुकी है.

वहीं रामनवमी और हनुमान जयंती पर देश के कई राज्यों में हुए साम्प्रदायिक तनाव के बाद यूपी में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए ईद को देखते हुए सभी पुलिस वालों की छुट्टी 4 मई तक रद्द कर दी गई है. साथ ही किसी तरह की शोभायात्रा निकालने के पूर्व पुलिस की अनुमति लेनी होगी. 

योगी सरकार के निर्देश के बाद मथुरा और गोरखपुर के मंदिरों में लाउडस्पीकर की आवाज इतनी धीमी कर दी गई अब उसकी आवाज मंदिर परिसर तक सीमित है. इसी तर्ज पर कई मस्जिदों में भी बड़ा बदलाव देखने को मिला है. मस्जिदों के लाउडस्पीकर की आवाज भी बेहद धीमी कर दी गई है जिससे लोगों को अब पांच बार की अजान सुनाई नहीं देती. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अनुसार अभी तक UP में 125 धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवाए गए हैं. वहीं, 17 हजार धार्मिक स्थलों पर स्पीकर की आवाज कम की गई है. इसके अलावा शासन ने तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाने वालों की रिपोर्ट तलब की है.  रिपोर्ट 30 अप्रैल तक देनी होगी.


Find Us on Facebook

Trending News