Asian Games का हुआ आगाज़, इनसे है मेडल की आस

Asian Games का हुआ आगाज़, इनसे है मेडल की आस

News4nation desk- शनिवार को इंडोनेशिया के जकार्ता में एशियन गेम्स का आगाज होने जा रहा है। एशियाई गेम्स का काउंट डाउन अब समप्त हो गया है। आज से जकार्ता और पालेमबांग में दुनिया भर के खिलाड़ी अपनी  हुनर से देश का मान-सम्मान बढ़ाएंगे। एथलेटिक्स सभी भारतीय खिलाड़ी अपनी-अपनी मंजिल पहुंच चुके हैं। पदक जीतने के मामले में भारत पहले स्थान पर रहा है। इस बार भी भारत को नीरज चोपड़ा, पीवी सिंधु, सुशील कुमार, हिमा दास, सीमा पूनिया और सुधा सिंह जैसे एथलीटों से मेडल की उम्मीद है। इस एथलेटिक्स में भारतीय खिलाड़ियों को चीन, जापान, बहरीन, कतर, कजाकिस्तान और सऊदी अरब जैसे देशों को पीछे छोड़ना होगा। इस कॉमनवेल्थ में भारत को अपनी सभी टीम से काफी उम्मीदें हैं. तो आइए देखते हैं कि किन-किन खिलाड़ियों से भारत को मेडल की आस है. 


बैडमिंटन

कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीत कर भारत का नाम रौशन करने वाले के. श्रीकांत से भारत को काफी उम्मीद है. इसके बाद लोगों को वर्ल्ड चैम्पियनशिप सिल्वर मेडलिस्ट पी वी सिंधु से भी लोग काफी आस लगाए हुए हैं. बैडमिंटन की लोकप्रियता सायना नेहवाल भी काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं. कोच का ऐसा मानना है कि इस बार की बैडमिंटन टीम के खिलाड़ी काफी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। 


कुश्ती

हरियाणा के बजरंग पूनिया ने इंचियोन के पहलवान से सिल्वर मेडल जीता था। इस साल वे तीन टूर्नामेंट जीत चुके हैं। गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड के अलावा उन्होंने जॉर्जिया और इस्तांबुल में भी दो टूर्नामेंट जीता है। वहीं, भारत के सुशील कुमार से भी भारत के लोगों को काफी उम्मीदें है.


निशानेबाजी

हरियाणा की 16 वर्षीय मनु भाकर ने पिछले साल जबर्दस्त प्रदर्शन करके काफी सुर्खियां बटोरी। उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में भी पीला तमगा जीता और 10 मीटर एयर पिस्टल में प्रबल दावेदार हैं। आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में वह गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं. 


टेनिस

रोहन बोपन्ना और दिविज शरण से भारतीय लोग काफी आस लगाए हुए हैं कि वे भारत को मेडल जरूर दिलाएंगे। वहीं, न्यूपोर्ट एटीपी टूर्नामेंट में फाइनल तक पहुंचे रामकुमार रामनाथन से भी लोगों को भी काफी आशा है. 


एथलेटिक्स

असम के एक गांव की रहने वाली हिमा दास ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में छठा स्थान हासिल किया था और आईएएएफ ट्रैक और फील्ड स्पर्धा में 400 मीटर में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय बनीं। इसके अलावा, डर 20 वर्ल्ड चैम्पियनशिप 2016 में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में इस कामयाबी को दोहराया। उन्होंने दोहा में आईएएएफ डायमंड लीग में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। पिछले चार टूर्नामेंट्स में से तीन में दो गोल्ड मेडल जीत चुके हैं।


मुक्केबाजी

शिवा थापा ने एशियाई चैम्पियनशिप में लगातार तीन मेडल जीतकर सबकी उम्मीदें बढ़ा दी है। वहीं, र्ल्ड चैम्पियनशिप सिल्वर मेडलिस्ट सोनिया लाठेर से भी काफी आस लगाईं जा रही है.


Find Us on Facebook

Trending News