आग के बाद जागेः बिहार सचिवालय में बार-बार आग लगने से टेंशन में सरकार,16 प्वाइंट्स पर काम करने का प्लान तैयार, जानें....

आग के बाद जागेः बिहार सचिवालय में बार-बार आग लगने से टेंशन में सरकार,16 प्वाइंट्स पर काम करने का प्लान तैयार, जानें....

PATNA: बिहार सचिवालय में आग लगने से हुई भारी क्षति के बाद सरकार हरकत में आई है. 11 मई 2022 को विश्वेश्वरैया भवन में भीषण आग लगी थी। तभी से सरकार अलर्ट मोड में है। मुख्य सचिव ने सचिवालय स्थित विभागों में अग्नि सुरक्षा प्रबंधन को लेकर मीटिंग की। बैठक में अग्निशमन के महानिदेशक शोभा ओहटकर ,गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव समेत अन्य अफसर मौजूद रहे।

16 बिंदू पर होगा काम

मुख्य सचिव ने 16 बिंदुओं पर काम करने का निर्देश दिया है. मुख्य सचिव ने कहा है कि सभी सरकारी कार्यालय भवन में कॉमन स्पेस में अग्नि सुरक्षा उपकरण को लगाएं. अग्नि सुरक्षा संबंधी इंटीग्रेटेड सिस्टम को डेवलप किया जाए. सभी सरकारी कार्यालय भवनों का अग्निऑडिट रिपोर्ट तैयार कर संबंधित विभाग को भेजें. अग्निकांड से निपटने के लिए फ्लो चार्ट तैयार कर सभी विभागों में भेजी जाए. अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा के संबंध में मुख्य सचिव अलग से बैठक करेंगे।

सभी सरकारी भवनों में निकासी योजना बनाकर विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शित करें. अग्नि सुरक्षा प्रबंधन के लिए विभाग अपने स्तर से एक नोडल पदाधिकारी मनोनीत करें. अपर सचिव स्तर के पदाधिकारी नोडल पदाधिकारी होंगे . एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, एयरपोर्ट अथॉरिटी से एमओयू करने के लिए प्रस्ताव तैयार करायें. सभी सरकारी कार्यालय भवन में शाम में तालाबंदी के लिए प्रोटोकॉल बनाएं. कार्यालय बंदी के बाद सभी कमरों में विद्युत आपूर्ति सप्लाई बंद करना सुनिश्चित हो. सरकारी भवनों में यूपीएस सर्वर रूम की निगरानी के लिए व्यवस्था सुनिश्चित हो. 

बड़े भवनों में बने रास्ते जो बंद हैं वो खाली होंगे

बैठक में मुख्य सचिव ने कहा है कि सरकारी कार्यालय के भवनों में हुए वायरिंग में अब एलमुनियम तार के स्थान पर कॉपर तार का इस्तेमाल करने पर भवन निर्माण विभाग विचार करे. सभी कार्यालय भवनों में शार्ट सर्किट ब्रेकर की जांच सुनिश्चित हो. वैसे सरकारी भवन जहां फॉल सीलिंग का कार्य किया गया है एवं जिनमें अधिक विद्युत की खपत है का सर्वे भवन निर्माण विभाग से करायें। बड़े सरकारी भवनों में निकासी के रास्ते जिसे घेर कर बंद कर दिया गया है, 1 माह के अंदर अतिक्रमण मुक्त करें. इसके साथ ही बैरिया बस स्टैंड में अग्नि सुरक्षा प्रबंधों देखने के लिए पटना प्रमंडल के कमिश्नर को प्राधिकृत किया गया है.

Find Us on Facebook

Trending News