बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

औरंगाबाद में सर्पदंश से हुई महिला की मौत, झाड़ फूंक के कारण गयी जान, परिजनों में मचा कोहराम

 औरंगाबाद में सर्पदंश से हुई महिला की मौत, झाड़ फूंक के कारण गयी जान, परिजनों में मचा कोहराम

AURANGABAD : नवीनगर प्रखंड के महुअरी गांव में सर्पदंश से एक 32 वर्षीय महिला की मौत हो गयी. महिला की पहचान उक्त गांव निवासी प्रमोद उर्फ भीष्म चौहान की पत्नी गुड़िया उर्फ गुड़ी देवी के रूप में की गई है. बताया जाता है की मृतका का मायका रोहतास जिले के तिलौथू थाना क्षेत्र के हुरका गांव है. शुक्रवार की शाम सदर अस्पताल में इलाज के दौरान परिजनों ने बताया की गुरुवार की रात खाना खाने के बाद गुड़िया अपने कमरे में सोई हुई थी. आज अहले सुबह उसे एक विषैले सांप ने काट लिया. जब उसे सर्पदंश का एहसास हुआ तो घटना की सूचना परिजनों को दी. 



सूचना पर परिजन उसे इलाज के बजाय पास के ही गम्हरिया गांव झाड़फूंक कराने लेकर चले गए. उक्त गांव में ओझा गुनी द्वारा घंटो झाड़फूंक का दौर चलता रहा. जब भी परिजन अस्पताल ले जाने को कह रहे थे तो ओझा गुनी द्वारा उसे जीवित करने का दावा किया जा रहा था. काफी देर तक जब गुड़िया की स्थिति में कोई सुधार न हुआ तो परिजन मायकेवालों के आदेश पर इलाज के लिए सदर अस्पताल सासाराम लेकर गए. हालांकि अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गयी थी. इसके बाद परिजन शव लेकर घर चले गए. 



स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना नवीनगर थाना की पुलिस को दी. सूचना पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पूरी कराई और शव परिजनों को सौंप दिया. हालांकि गांव में ग्रामीणों द्वारा तरह तरह की चर्चाएं की जा रही थी. ग्रामीणों का कहना था कि अगर परिजन झाड़फूंक के चक्कर मे नही पड़ते तो आज महिला की मौत नही होती. वैसे आज भी अंधविश्वास लोगों पर भारी होते दिख रहा है. 



पता चला कि मृतका के दो बेटा व एक बेटी है. पति मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करता है. मृतका अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़कर चली गयी. उसकी मौत से ससुराल से लेकर मायके तक मातम पसर गया. नवीनगर थानाध्यक्ष मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि सर्पदंश से महिला की मौत हुई है. पोस्टमार्टम कराकर दाह संस्कार के लिए शव परिजनों को सौंप दिया गया है. मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है.



औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट

Suggested News