जदयू नेता छोटू सिंह ने दतिया के पीताम्बरा पीठ में की पूजा अर्चना, 'दादा' के स्वास्थ्य लाभ के लिए की कामना

जदयू नेता छोटू सिंह ने दतिया के पीताम्बरा पीठ में की पूजा अर्चना, 'दादा' के स्वास्थ्य लाभ के लिए की कामना

PATNA : बीते दिनों जदयू के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह की तबियत अचानक खराब हो गयी थी। जिसके बाद पटना में उनका कुशलक्षेम पूछने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और जदयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा भी उनके आवास पर गए थे। इसके बाद उन्हें इलाज के लिए एयर एम्बुलेंस से दिल्ली ले जाया गया। एम्स में इलाज के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है। अब वशिष्ठ नारायण सिंह अपने दिल्ली स्थित आवास पर स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। 

हालाँकि अभी भी उनके पूरी तरह स्वस्थ होने के लिए जदयू नेता, कार्यकर्त्ता और समर्थक पूजा अर्चना कर रहे हैं। इसी कड़ी में जदयू नेता और बिहार राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव अरविन्द कुमार सिंह उर्फ़ छोटू सिंह ने मध्य प्रदेश के दतिया स्थित पीताम्बर पीठ में पूजा अर्चना की। उनके साथ युवा जदयू के राष्ट्रीय महासचिव सुबोध कुमार भी मौजूद थे। दोनों नेताओं ने दतिया जाकर राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। साथ ही उनके दीर्घायु होने की कामना की। 

जदयू नेता छोटू सिंह ने बताया की उन्होंने पीताम्बर पीठ में पूजा अर्चना कर दादा के जल्द स्वस्थ होने के साथ राज्य के सुख समृद्धि की भी कामना की है। माता के आशीर्वाद से दादा बहुत जल्द स्वस्थ होकर हमलोगों को अपने अनुभव का लाभ देंगे। उन्होंने कहा की वशिष्ठ नारायण सिंह जेपी आंदोलन के अग्रणी नेता रहे हैं। लालू यादव और नीतीश कुमार दोनों के साथ वह काम कर चुके हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते हैं। लंबे समय तक बिहार जदयू के अध्यक्ष रहे।   

बताते चलें की पीताम्बरा पीठ दतिया शहर मे स्थित देश का एक प्रसिद्ध शक्तिपीठ है। श्री गोलोकवासी स्वामीजी महाराज के द्वारा 1920 के दशक में इस स्थान पर ‘बगलामुखी देवी’ तथा ‘धूमवाती माता’ की स्थापना की गयी थी। पीताम्बरा पीठ में स्थित वनखण्डेश्वर मंदिर को महाभारत कालीन शिव मंदिर माना जाता है। इसके अलावा आश्रम के बड़े क्षेत्र में परशुराम, हनुमान, कालभैरव और अन्य देवी-देवताओं के मंदिर फैले हुए हैं। आज इस मंदिर की देखभाल एक ट्रस्ट के माध्यम से की जाती है। जहाँ देश के कोने कोने से श्रद्धालु अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए जाते हैं। जिनमें देश के बड़े बड़े राजनेता, बिजनेस मैन, फ़िल्मी हस्तियाँ, अधिकारी और आम लोग शामिल होते हैं।  

Find Us on Facebook

Trending News