यह सड़क क्या तुम्हारे बाप की है... और सड़क किनारे खड़े युवक का पुलिस ने डंडे से मारकर फोड़ दिया सिर

यह सड़क क्या तुम्हारे बाप की है... और सड़क किनारे खड़े युवक का पुलिस ने डंडे से मारकर फोड़ दिया सिर

नवगछिया। पुलिस का आम लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार और लोगों पर लगातार हो रहे बर्बर हमले थमने का नाम नहीं ले रहा है. थाना क्षेत्र के खरीक बाजार पुरानी पोस्ट ऑफिस के समीप सड़क किनारे जरूरी काम से मोटरसाइकिल लगाकर खड़े युवक तेलगी निवासी रामानंद सिंह के पुत्र सज्जन कुमार उम्र 35 वर्ष को अज्ञात पुलिस वाहन पर सवार पुलिसकर्मी ने गाड़ी से उतरकर यह कहते हुए डंडा बरसाना शुरू कर दिया कि यह सड़क तुम्हारे बाप का है जो तुम गाड़ी सड़क के बगल में लगा कर खड़े हो। 

 जब तक युवक ने अपनी बात पुलिस को बताता अब तक पुलिस गाड़ी में से उतर कर एक सिविल वर्दी में पुलिसकर्मी ने युवक के सर पर जोरदार डंडा मारा जिससे युवक का सर बुरी तरह फट गया जिससे युवक लहूलुहान हो गया. डंडा का प्रहार इतना जोरदार था कि सर पर लगभग 1 इंच गहरा और 4 इंच लंबा गंभीर जख्म उभर आया.बुरी तरह से सर फट जाने से गंभीर रूप से जख्मी युवक बेहोश होकर सड़क पर गिर पड़ा. बेहोशी की हालत में देख उसके मित्र ने युवक के घर पर फोन कर परिजनों को घटना की जानकारी दी. आनन फानन में तेलघी से जख्मी युवक का भाई और अन्य परिजन मौके पर पहुंचकर खून से लथपथ युवक को उठाकर इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खरीक में भर्ती किया. युवक की हालत नाजुक देख कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों ने जख्मी युवक को बेहतर उपचार के लिए मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया। 

घर में जख्मी युवक के बयान पर खरीक थाना में जान मारने का प्रयास के आरोप में अज्ञात पुलिसकर्मी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. पीड़ित युवक सज्जन सिंह ने बताया कि वह जरूरी काम से खरीक बाजार गया था और गाड़ी सड़क के किनारे लगाकर खड़ा था. सुमो विक्टा पर सवार पुलिस कर्मी में से एक पुलिसकर्मी जो सिविल ड्रेस में था बाहर निकला और यह कहते हुए की तुम्हारे बाप का सड़क है जो गाड़ी लगाकर खड़ा है डंडा बरसाना शुरू कर दिया जिससे मैं बेहोश होकर गिर पड़ा लोगों ने मुझे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया. 

पुलिस द्वारा युवक की अमानवीय पिटाई और जानलेवा बर्बर हमले की घटना से आसपास के लोगों में काफी रोष है. घटना की सूचना मिलने पर कई लोग घटनास्थल पर पहुंचकर अपना रोष जताया और पुलिस की बर्बर कार्रवाई की निंदा की. उन लोगों ने पुलिस को चेतावनी दी है पुलिस इस तरह के बर्बर हमले पर रोक लगाये अन्यथा आम लोगों की तरफ से होने वाले कार्रवाई को भुगतने के लिए पुलिस तैयार रहें. पुलिस पूर्व की घटनाओं से नहीं ले रही है सीख मुंगेर बिहपुर और नाथनगर में हुए पुलिस बर्बरता की घटनाओं से स्थानीय पुलिस सीख नही ले रही है. पुलिस द्वारा उत्तरोत्तर एक के बाद एक आम लोगों पर बर्बर घटनाएं की जा रही है जिससे जनाक्रोश उभरने की संभावना प्रबल हो गई है. जख्मी युवक के परिजनों ने अविलंब आरोपित पुलिस को गिरफ्तार करने की मांग की है. समाचार संप्रेषण तक घटना को अंजाम देने वाले पुलिस की पहचान नहीं हो सकी है. इस संदर्भ में पूछे जाने पर खरीक थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने कहां के जान मारने का प्रयास मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है.आरोपित अज्ञात पुलिसकर्मी की खोजबीन की जा रही है.

क्या कहते हैं एसपी

नवगछिया एसपी सुशांत सिंह सरोज ने कहा कि पुलिस गाड़ी का सत्यापन किया जा रहा है. नवगछिया पुलिस जिला के किसी भी पुलिस ने इस तरह की घटना को अंजाम दिया होगा तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Find Us on Facebook

Trending News