विदेशों से चंदा नहीं ले सकेंगी देश में संचालित 6000 संस्थानें, IMA, IIT दिल्ली, जामिया मिलिया सहित कई बड़े नाम हैं सूची में शामिल

विदेशों से चंदा नहीं ले सकेंगी देश में संचालित 6000 संस्थानें, IMA, IIT दिल्ली, जामिया मिलिया सहित कई बड़े नाम हैं सूची में शामिल

NEE DELHI : IIT दिल्ली, जामिया मिलिया इस्लामिया, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) और नेहरू स्मारक संग्रहालय आदि यह वह बड़े नाम हैं, जिन्हें काफी प्रतिष्ठा हासिल है। यही कारण है इन संस्थानों को बड़ी संख्या में विदेशों से भी चंदे के नाम पर पैसे दिए जाते रहे हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। अब यह संस्थानें  विदेशों से चंदा नहीं ले सकेंगी। ऐसा इसलिए, क्योंकि इन संस्थानों का विदेशी चंदा लेने के लिए जरूरी एफसीआरए रजिस्ट्रेशन शनिवार को खत्म हो गया। विदेश से चंदा लेने के लिए किसी भी संगठन या एनजीओ केआलिए एफसीआरए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होता है।

6000 से ज्यादा संस्थानें सूची में शामिल

एफसीआरए रजिस्ट्रेशन अवधि खत्म होनेवाले संस्थानों में सिर्फ यह नाम शामिल नहीं हैं, बल्कि देश के ऐसे 6000 संस्थान हैं, जो सूचि में शामिल हैं।  जिन संगठनों का एफसीआरए के तहत रजिस्ट्रेशन खत्म हुआ है, उनमें इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, भारतीय लोक प्रशासन संस्थान, लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल फाउंडेशन, लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमन, दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग और ऑक्सफैम इंडिया शामिल हैं। इसके अलावा, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई), इमैनुएल हॉस्पिटल असोसिएशन, हमदर्द एजुकेशन सोसायटी, दिल्ली स्कूल ऑफ सोशल वर्क सोसायटी, भारतीय संस्कृति परिषद, डीएवी कॉलेज ट्रस्ट ऐंड मैनेजमेंट सोसायटी, इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर, दिल्ली पब्लिक स्कूल सोसायटी, जेएनयू में न्यूक्लियर साइंस सेंटर और इंडिया हैबिटेट सेंटर भी उन संगठनों में हैं, जिनका एफसीआरए रजिस्ट्रेशन खत्म हो गया।

31 दिसंबर तक 22 हजार से ज्यादा रजिस्टर्ड संस्थाएं, अब 16 हजार बची

शुक्रवार तक 22,762 एफसीआरए रजिस्टर्ड एनजीओ थे। जिन्हें विदेशों से नियमित रूप से चंदा मिलता था, लेकिन नए साल के पहले दिन यह सूचि घटकर 16,829 हो गया। क्योंकि 5,933 एनजीओ ने कामकाज बंद कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि इन संस्थानों ने या तो अपने एफसीआरए लाइसेंस को रिन्यू कराने के लिए आवेदन ही नहीं किया या केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके आवेदनों को खारिज कर दिया। अब इनका रजिस्ट्रेशन शनिवार (1 जनवरी) को खत्म माना गया है।

एफसीआरए के तहत पंजीकृत गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) और इसके सहयोगियों की गतिविधियों का नियमन करने वाले केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि अधिनियम के तहत पंजीकरण शनिवार (1 जनवरी) को समाप्त माना गया है।अधिकारियों ने बताया कि 18,778 संगठनों के एफसीआर लाइसेंस 29 सितंबर 2020 से 31 दिसंबर 2021 के बीच समाप्त हो रहे थे। उनमें से करीब 12,989 संगठनों ने एफसीआरए लाइसेंस नवीनीकरण के लिए 30 सितंबर 2020 से 31 दिसंबर 2021 के बीच आवेदन दिया था।

Find Us on Facebook

Trending News