टीकाकरण के कुछ घंटे बाद तीन माह के बच्चे ने तोड़ा दम, परिजनों ने केंद्र में जाकर किया हंगामा, लापरवाही का लगाया आरोप

टीकाकरण के कुछ घंटे बाद तीन माह के बच्चे ने तोड़ा दम, परिजनों ने केंद्र में जाकर किया हंगामा, लापरवाही का लगाया आरोप

PATNA : पटना के पालीगंज के एक आंगनवाड़ी केंद्र पर महज 3 माह के बच्चे को टीकाकरण के कुछ ही घंटों बाद मौत हो गई। बच्चे की मौत से परिजन आक्रोशित हो उठे। उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्र के एएनएम पर टीकाकरण में लापरवाही का आरोप लगाया है। मामला प्रकाश में आते ही पालीगंज अनुमंडल अस्पताल की उपाधीक्षक ने इस मामले के लिए टीम गठन कर इसके जांच का आदेश दिया है । मामला के बाद पूरे पालीगंज अनुमंडल क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया ।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की शाम पालीगंज अनुमंडल के बाली पाकर गांव स्थित एक आंगनवाड़ी केंद्र पर नियमित टीकाकरण का आयोजन किया गया था। इस दौरान उसी गांव के सनी कुमार के परिवार अपने 3 माह के बेटे राज को लेकर टीकाकरण दिलवाने आए थे। आंगनबाड़ी केंद्र की एएनएम रेखा कुमारी ने राज का टीकाकरण किया। टीकाकरण के कुछ ही घंटों बाद बच्चे की हालत बिगड़ने लगी। बच्चे की हालत बिगड़ती देख एएनएम रेखा कुमारी ने पालीगंज अनुमंडल अस्पताल की उपाधीक्षक डॉ आभा कुमारी को फोन पर इसकी जानकारी दी। डॉ. आभा कुमारी ने बच्चे को अविलंब अस्पताल में जांच के लिए बुलाया। इस बीच परिजन अस्पताल लेकर बच्चे को पहुंचते तब तक रास्ते में ही बच्चे की मौत हो गई। 

बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने एएनएम पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। मामला प्रकाश में आते ही पालीगंज अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक आभा कुमारी ने बताया कि घटना के बाद इसके उच्च स्तरीय जांच के लिए 2 डॉक्टर , WHO के सदस्य के साथ प्रखंड के कुछ मेडिकल टीम को भी इसमें लगाया गया है। डॉ आभा कुमारी ने बताया कि सूचना मिलते के साथ ही उन्होंने वैक्सीन वॉयल को मंगवा कर उसकी पूरी जांच की।  जांच में उन्होंने पाया कि वैक्सीन वॉयल का डेट पूरी तरह अपडेट है। बातचीत के क्रम में उन्होंने बताया कि उसी वॉयल से दूसरे 9 बच्चों को भी वैक्सीन लगाई गई है। लेकिन किसी बच्चे को किसी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है। उन्होंने स्पष्ट किया कि उस वॉयल को सील कर दिया गया है। 

उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया में मामला ऐसा प्रतीत होता है कि बच्चे में पूर्व से ही किसी तरह की कोई शिकायत रही होगी । जिससे बच्चे में अचानक इस तरह के हादसा हुआ। उन्होंने टीकाकरण से मौत के बाद को पूरी तरह से ना करते हुए कहा कि अगर मामला प्रकाश में आया है तो वह इसकी जांच के भी आदेश दे चुके हैं । उन्होंने स्पष्ट किया कि इस मामले में जांच के बाद जो भी रिपोर्ट आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी ।

Find Us on Facebook

Trending News