खाद विक्रेताओं के दुकानों में प्रशासन ने की छापेमारी, सौ बोरी खाद जब्त, दुकानदारों ने कहा - हिम्मत है तो बड़े कारोबारियों पर करें कार्रवाई

खाद विक्रेताओं के दुकानों में प्रशासन ने की छापेमारी, सौ बोरी खाद जब्त, दुकानदारों ने कहा - हिम्मत है तो बड़े कारोबारियों पर करें कार्रवाई

KATIHAR : खाद की कालाबाजारी रोकने को लेकर प्रशासन ने कोढ़ा थाना के कई खाद विक्रेताओं के दुकानों में छापेमारी कर लगभग एक सौ बोरी खाद जब्त की है, इस दौरान कार्रवाई के लिए खुद एसडीएम और बीएओ कार्रवाई के दौरान मौजूद रहे। एसडीएम ने बताया कि कार्रवाई में लगभग 4-5 दुकानों में छापेमारी की गई, जहां खाद बिक्री में अनिमियतता पाई गई है। इनके खिलाफ एफआईआर कराने के निर्देश दिए गए हैं।

 एसडीएम ने बताया कि कोढ़ा थाना क्षेत्र के गड़बड़ी इलाके में कई दिनों से प्रशासन को सूचना मिल रहा था कि खाद दुकानदार किसानों को खाद बेचने के नाम पर मनमानी कर रहे हैं, इसी सूचना पर जिलाधिकारी के निर्देश पर हमलोग जांच के लिए पहुंचे थे। इस दौरान हमने दुकानों की जांच में पाया कि विक्रेता सरकारी व्यवस्था के अनुरूप खाद की बिक्री नहीं कर रहे थे। कई लोग बिना पीओएस में इंट्री किए ही खाद बेच रहे थे,  जो कि खाद की अवैध बिक्री को दर्शाता है। उन्होंने बताया कि इस कार्रवाई के दौरान लगभग एक सौ बोरी के आसपास खाद जब्त किया गया है।

बड़े खाद कारोबारियों पर भी होगी कार्रवाई

प्रशासन की यह कार्रवाई छोटे खाद विक्रेताओं के खिलाफ की गई, जिससे विक्रेताओं में नाराजगी भी नजर आई। उनका कहना था कि प्रशासन बड़े कारोबारियों पर कोई कार्रवाई नहीं करती है, जबकि वहां सबसे अधिक खाद की कालाबाजारी की जा रही है। इस मामले में जब एसडीएम से बात की गई तो उन्होंने अपना बचाव करते हुए बताया कि जिले में खाद की कालाबाजारी करनेवाले किसी कारोबारी को बख्शा नहीं जाएगी। सभी बड़े खाद कारोबारियों के गोदामों की भी जांच की तैयारी की जा रही है। अगर गड़बड़ी पाई जाती है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन की कोशिश है कि किसानों को सरकारी दर पर आसानी से खाद की उपलब्धता मिल सके।

जब बीएओ को समझाने लगे एसडीएम

खाद दुकानों में एक समय ऐसा भी आया जब ब्लॉक कृषि पदाधिकारी को एसडीएम यह समझाने लगे कि कैसे खाद की कालाबाजारी की जा रही है। एसडीएम ने बताया कि कई लोगों के आधार कार्ड पर एक किसान यहां से खाद का उठाव कर रहा है। जबकि नियम एक किसान को एक ही आधार कार्ड पर खाद देने का है।



Find Us on Facebook

Trending News