डेढ़ दशक बाद शिवानंद तिवारी ने मारी पलटी, अब विशेष राज्य और पैकेज को लेकर सीएम नीतीश को देने लगे नसीहत

डेढ़ दशक बाद शिवानंद तिवारी ने मारी पलटी, अब विशेष राज्य और पैकेज को लेकर सीएम नीतीश को देने लगे नसीहत

विशेष राज्य पर बोले शिवानंद, यूं ही विजेंद्र यादव ने नहीं दिया होगा बयान, कहा- मै था समिति का अध्यक्ष

PATNA : विशेष राज्य के मुद्दे पर बिहार के वरिष्ठ नेताओं में शिवानंद तिवारी को डेढ़ दशक बाद यह एहसास हुआ है कि बिहार का विकास संभव नहीं है, फिर चाहे बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले, विशेष पैकेज मिले। बिहार पहले भी मजदूर सप्लाई करनेवाला राज्य था, आगे भी रहेगा। अब शिवानंद तिवारी ने इस मुद्दे पर सीएम को सलाह दी है कि इससे कुछ नहीं होनेवाला है। हां यह बात अलग है कि यही मांग तेजस्वी यादव भी कर रहे हैं, लेकिन शिवानंद तिवारी उन्हें कोई नसीहत नहीं दी है। 

लोगों को दिखाए झूठे सपने

कभी जदयू का हिस्सा रहे शिवानंद तिवारी विशेष राज्य अभियान के लिए बने समिति के अध्यक्ष थे। इस समिति ने बिहार के युवाओं को यह सपने दिखाए कि विशेष राज्य का दर्जा मिलने से उद्योग बिहार में आएंगे। लोगों को रोजगार मिलेंगे। यहां तक कि उस समय गांधी मैदान में  हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया, जिसमें डेढ़ करोड़ से ज्यादा बिहारियों ने हस्ताक्षर किए थे। सबसे पहला हस्ताक्षर सीएम नीतीश कुमार ने किया था। अब इतने साल इस समिति के पूर्व अध्यक्ष यह कह रहे हैं कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलने के बाद भी कोई लाभ नहीं होगा। 

दरअसल दो दिन पहले जदयू के वरिष्ठ विजेंद्र यादव ने यह कहा था कि वह विशेष राज्य की मांग करके थक गई है और अब वह यह मांग छोड़ रही है और उसकी जगह विशेष पैकेज की मांग की जाएगी। जबकि इस बयान के विपरित नीतीश कुमार ने कहा था कि जब तक वह है, तब तक विशेष राज्य की मांग की जाती रहेगी। इसी मुद्दे पर शिवानंद तिवारी ने अपनी प्रतिक्रिया दी। जिसमें विशेष राज्य की मांग से लेकर वर्तमान स्थिति में इसका कितना लाभ होगा, इस पर अपनी बात कही


बिहार पिछड़ा था और रहेगा

शिवानंद तिवारी ने कहा कि चाहे बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले या विशेष पैकेज मिले, बिहार का पिछ़डापन दूर नहीं हो सकता है। अंग्रेजों के जमाने से बिहार गिरमिठिया मजदूर बना हुआ है। आजादी के बाद बिहार देश का सबसे बड़ा मजदूर सप्लायर बने हुआ है। इसकी कलई तब खोली गई,जब पिछले साल कोरोना महामारी के कारण लोग पैदल घर वापस लौटने लगे। 

विजेंद्र यादव का किया समर्थन

शिवानंद तिवारी ने विजेंद्र यादव के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि वह ऐसे कोई बयान नहीं दे सकते हैं। उन्हें हम लंबे समय से जानते हैं, अगर वह कुछ बोल रहे हैं तो इसमें कुछ सच्चाई जरुर होगी। शिवानंद तिवारी ने कहा कि जब विशेष राज्य की मांग छोड़ने की बात पर मैं आश्चर्यचकित हो गया।

कौन से पैकेज की मांग कर रहा है जदयू

उन्होंने बिजेंद्र यादव के पैकेज मिलने की बात पर सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपाई हर बार कहते हैं कि भाजपा के नेता अक्सर यह बात कहते हैं कि बिहार को यह पैकेज मिला, वह पैकेज मिला। अगर भाजपा नेता सच बोल रहे हैं तो आखिरकार विजेंद् यादव किस पैकेज की मांगकर रहे हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News