स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफा लेने के बाद एक बार फिर भगवंत मान ने दिल जीत लेनेवाला फैसला, 424 माननियों की सुरक्षा हटाने का निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफा लेने के बाद एक बार फिर भगवंत मान ने दिल जीत लेनेवाला फैसला, 424 माननियों की सुरक्षा हटाने का निर्देश

DESK : चार दिन पहले पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपने स्वास्थ्य मंत्री से सिर्फ इसलिए इस्तीफा ले लिया था क्योंकि उसने सरकारी ठेके में घुस देने की मांग की थी। पंजाब के सीएम के इस कार्य की तारीफ सभी ने की थी। अब भगवंत मान ने एक बार फिर से ऐसा काम किया है, जिसकी जमकर तारीफ की जा रही है। पंजाब की भगवंत मान सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 424 माननीयों (अतिविशिष्ट व्यक्ति) की सुरक्षा को वापस ले लिया है। अब इन माननियों की सुरक्षा में लगे सारे जवानों को उनके बटालियन में वापस भेज दिया जाएगा।

समीक्षा बैठक के बाद लिया फैसला

पंजाब की भगवंत मान सरकार ने जिन लोगों की सुरक्षा वापस ली है, उनमें अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह, सिंगर सिद्धू मूसेवाला, शिअद के वरिष्ठ नेता चरण जीत सिंह ढिल्लो भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि सुरक्षा वापस लेने से पहले सरकार ने एक एक समीक्षा बैठक की थी. इसमें विचार-विमर्श किया गया था कि क्या 424 लोगों को सुरक्षा की जरूरत है. समीक्षा बैठक के बाद राज्य सरकार ने सुरक्षा में कटौती के आदेश जारी किए हैं।

पंजाब पुलिस में स्टाफ को भी बताया गया बड़ा कारण

सुरक्षा को वापस लिए जाने का एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि पंजाब पुलिस में पहले से ही कर्मचारियों की कमी चल रही है और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आम स्थानों पर सुरक्षाकर्मियों की कमी को पूरा करना मुश्किल हो रहा है। सरकार का मानना है कि इन अतिविशिष्ट लोगों की सुरक्षा के तैनात सुरक्षाकर्मियों को वापस बुलाने के बाद के बहुत हद तक इस समस्या से निबटा जा सकता है। अब सरकार के आदेश के बाद राजनेताओं, अधिकारियों और धार्मिक गुरुओं की सुरक्षा में तैनात सुरक्षा बलों के जवानों को आज यानी शनिवार को अपनी-अपनी बटालियनों में जाकर रिपोर्ट करना होगा। 

अप्रैल में चन्नी सहित अमरिंदर सिंह के बेटे सहित 184 की हटाई थी सुरक्षा

पंजाब की मान सरकार ने धार्मिक गुरु, राजनेता और रिटायर्ड पुलिस अफसरों की सुरक्षा को वापस लेने का निर्णय किया है. अभी पिछले अप्रैल महीने में ही पंजाब सरकार ने करीब पूर्व मंत्री, पूर्व विधायकों और नेताओं समेत करीब 184 लोगों की सुरक्षा हटा दी थी। इस दौरान, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रनिंदर सिंह और कांग्रेस के विधायक प्रताप सिंह बाजवा की पत्नी की सुरक्षा हटा दी थी। 

बताया यह भी जा रहा है कि इन माननीयों की सुरक्षा वापस लेने के बाद सिक्योरिटी फोर्सेज के जवानों को उनकी बटालियन में वापस भेज दिया जाएगा.


Find Us on Facebook

Trending News