देर रात PMCH के निरीक्षण के बाद आज अधिकारियों के साथ बैठक की डिप्टी सीएम तेजस्वी, स्वास्थ्य व्यवस्था को ठीक करने के लिए 60 दिनों की बनायी कार्य योजना

देर रात PMCH के निरीक्षण के बाद आज अधिकारियों के साथ बैठक की डिप्टी सीएम तेजस्वी, स्वास्थ्य व्यवस्था को ठीक करने के लिए 60 दिनों की बनायी कार्य योजना

पटना. बिहार के डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव ने मंगलवार देर रात को पीएमसीएच का निरीक्षण किया था। यहां की बदहाल व्यवस्था को लेकर उन्होंने नाराजगी व्यक्ति की है। इसके बाद तेजस्वी ने बुधवार को सिविल सर्जन और बड़े चिकित्सक अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने मौजूदा चिकित्सा व्यवस्था पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इसे जल्द सुधार के निर्देश दिये हैं।

60 दिनों सुधरेगी व्यवस्था

बैठक के बाद तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि स्वास्थ्य व्यस्था की स्थिति बेहद खराब है, लेकिन अब महागठबंधन की सरकार बन गयी है। जल्द ही इसमें सुधार होगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने के लिए 60 दिनों की कार्य योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा कि 60 दिनों में अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिये गये हैं।

तेजस्वी ने कहा कि हमने सभी को अपने नेक इरादों और लक्ष्यों से अवगत करा दिया है। बिहार के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला सदर अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में स्वास्थ्य सेवा में सुधार का 60 दिनों का लक्ष्य दिया है। इसमें सफ़ाई, दवाई, सुनवाई और कारवाई सुनिश्चित करना शामिल है। किसी भी प्रकार की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि जिला सदर एवं बड़े अस्पतालों में 24 घंटे उचित स्टाफ़ के साथ हेल्पडेस्क और कंपलेन डेसक स्थापित करने का आदेश दिया गया है। इसमें मरीज़ों के भर्ती होने से लेकर, एंबुलेंस, शव वाहन, रेफ़रल की सहज व सरल सुविधा प्रदान करने साथ-साथ मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत करने की प्रक्रिया को भी सुगम बनाने का निर्देश दिया है।

जिला अस्पतालों को रेफ़रल पॉलिसी का SOP फ़ॉलो करने एवं सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता व मेडिकल उपकरणों को चालू अवस्था में रखने का भी निर्देश है। जहां मानव संसाधन की कमी है उसकी तत्काल पूर्ति की जाए। रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया में तेज़ी लाया जाए।

डिप्टी सीएम का पीएमसीएच निरीक्षण

दरअसल बिहार के उप मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव मंगलवार को देर रात बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में पीएमसीएच में औचक निरीक्षण करने पहुंच गये। वहां मरीजों के परिजनों ने उनसे शिकायत की कि ज्यादातर दवाएं बाहर से लानी पड़ रही है। सफाई व्यवस्था को लेकर भी मरीजों के परिजनों ने तेजस्वी को शिकायत की।

तेजस्वी ने कहा कि बिहार राज्य के सभी सीएस और सभी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल की बैठक उन्होंने बुलाई गई है। इसलिए उसके पहले पीएमसीएच का हाल का हाल देखने पहुंचे। तेजस्वी ने कहा कि हेल्थ मैनेजर ने एक नर्स को एडमिनिस्ट्रेशन का कंट्रोल देखने को दे दिया है। यह मजाक है।

तेजस्वी ने पीएमसीएच की व्यवस्था पर नाराजगी व्यक्त करते हुए पूछा कि हेल्थ मैनेजर रात के समय क्यों नहीं रहते हैं? सफाई के लिए सुपरवाइजर को तेजस्वी ने बुलवाया। टाटा वार्ड के पीजी डॉक्टरों से उन्होंने बातचीत की। उन्होंने पीएमसीएच प्रशासन की और डॉक्टरों की खूब क्लास लगाई। उन्होंने कहा कि कुत्ता वार्ड में घुसा हुआ है और उसे कोई स्टाफ बाहर नहीं कर रहा है, मैंने देखा। सभी ड्रग, आउससोर्स, नर्सों आदि के बारे में पूरी रिपोर्ट मांगी। साथ ही तेजस्वी ने सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

Find Us on Facebook

Trending News