हथियार से लैस अपराधियों ने गृह स्वामी को अगवा कर की दो राउंड फायरिंग, कागजातों में लगाई आग, जांच में जुटी पुलिस

हथियार से लैस अपराधियों ने गृह स्वामी को अगवा कर की दो राउंड फायरिंग, कागजातों में लगाई आग, जांच में जुटी पुलिस

AURANGABD : जिले के उपहारा थाना क्षेत्र के एड़री गांव में पांच की संख्या में आये सशस्त्र अपराधियों ने गृहस्वामी को अगवा कर दो राउंड फायरिंग करते हुए घर मे रखे आवश्यक दस्तावेजों को आग के हवाले कर दिया। अपराधियों के जाने के बाद गांव वालों की मदद से आग को बुझाया गया। तब तक सभी आवश्यक कागजात जलकर राख हो गए थे। सूचना मिलते ही उपहारा पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की। 


उपहारा थाना में दिए गए आवेदन में पीड़ित प्रमोद राम ने बताया कि शुक्रवार की रात लगभग 9 बजे अपने घर के आंगन में चौकी पर बैठकर खाना खा रहे थे। पहले तीन अपराधियों ने प्रमोद राम के घर के बक्सा मैं रखे आवश्यक कागजात को आग के हवाले कर दिया और प्रमोद राम को बंधक बनाकर गांव से उत्तर दिशा की ओर बधार में ले गया और जान मारने की धमकी देते हुए उसके भतीजे निरंजन को घर बनाने में दखल अंदाजी नहीं करने की धमकी दी। 

जब प्रमोद राम ने कुछ नहीं बोला तो अपराधियों ने गाली गलौज करते हुए भय बनाने को लेकर 2 राउंड फायरिंग कर दी। इससे प्रमोद राम घबरा गए। उसके बाद उन्होंने निरंजन को घर बनाने में दखलअंदाजी नहीं करने की बात कही। इधर अपराधियों ने कहा कि अगर मकान की ढलाई होने में बाधा पहुंचाया तो पूरे परिवार को जान से मार देंगे। धमकी देते हुए अपराधी वहां से भाग निकले। धमकी देते हुए जब अपराधियों ने अपना अपना ढका चेहरा खोलकर जा रहा था तो प्रमोद ने पहचान लिया और थाना में दिए गए आवेदन में बताया कि पांच अपराधियों में से तीन उसके भतीजे हैं। जिसमें स्वर्गीय मुन्नी राम के पुत्र निरंजन कुमार, दूसरा रंजन कुमार एवं तीसरा रवि रंजन कुमार शामिल हैं वहीं दो अज्ञात अपराधी बताया जा रहा हैं।

पीड़ित प्रमोद ने पुलिस को बताया कि जब सुबह घटनास्थल पर गए तो अपराधियों द्वारा फायरिंग किए गए दो गोली के खोखे मिले है। इधर अपराधियों द्वारा घर में आग लगाए जाने पर ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंच गए और आग पर काबू पाया। सूचना मिलते ही उपहारा पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की। शनिवार को प्रमोद राम ने उपहारा थाना में लिखित शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। मामले में थानाध्यक्ष मनोज कुमार तिवारी ने बताया कि रात्रि में घटना की सूचना मिली थी। घटनास्थल पर पहुंचकर जांच किया गया था। आवेदन अभी नहीं मिली है। आवेदन मिलते ही कार्रवाई की जाएगी।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News