BJP विधायक अरूण सिन्हा के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले कार्यकर्ताओं को बताया गया तथाकथित....समर्पित नेताओं-वर्करों में भारी आक्रोश

BJP विधायक अरूण सिन्हा  के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले कार्यकर्ताओं को बताया गया तथाकथित....समर्पित नेताओं-वर्करों में भारी आक्रोश

पटनाः  पटनावासी इस बार कुम्हरार विस क्षेत्र के बीजेपी विधायक से काफी गुस्से में हैं। नाराजगी ऐसी है कि जगह-जगह पोस्टर लगा और पुतला दहन कर बीजेपी विधायक का विरोध कर रहे. कुम्हरार विस से लगातार तीन बार से जीतते आ रहे बीजेपी विधायक अरूण कुमार सिन्हा को लेकर सिर्फ वोटरों में ही नहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं भी में भारी आक्रोश है। स्थानीय लोग हर चौक-चौराहों पर बैनर-पोस्टर और विधायक का पुतला जलाकर विधायक अरुण सिन्हा का विरोध कर रहे हैं। अब तो बीजेपी कार्यकर्ता खुलकर मैदान में उतर गए हैं और पार्टी नेतृत्व से प्रत्याशी बदलने की मांग कर रहे. कुम्हरार के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ऐलान कर दिया कि क्षेत्र से भगोड़ा प्रत्याशी नहीं चाहिए। पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं की तरफ से विरोध में उतरने के बाद भाजपा विधायक की टेंशन बढ़ गई है। लिहाजा विधायक की तरफ से  मंडल अध्यक्ष चिट्ठी लिखकर कह रहे कि जो लोग विरोध कर रहे वे बीजेपी के तथाकथित सदस्य हैं. बीजेपी में दशकों से जुड़े रहने वाले सदस्यों को तथाकथित सदस्य कहे जाने पर कुम्हरार विस के समर्पित सदस्यों में भारी आक्रोश है  और इस बार के चुनाव में पूरा हिसाब-किताब करने की बात कह रहे।

मंडल अध्यक्षों से लिखवाई जा रही चिट्ठी


कुम्हरार विस क्षेत्र में पड़ने वाले मंडल अध्यक्षों की तरफ से विधायक अरूण सिन्हा के समर्थन में चिट्ठी लिखवाई जा रही है।मंडल अध्यक्षों ने चिट्ठी में लिखा है कि जो कार्यकर्ता विरोध कर रहे वे तथाकथित मेंबर हैं।  रामकृष्ण मंडल के अध्यक्ष अशोक कुमार मेहता की तरफ से भाजपा के पटना महानगर जिला अध्यक्ष को लिखे गए पत्र में कहा है कि मंडल के सभी पदाधिकारी एवं सदस्यगण भाजपा के विधायक अरुण कुमार सिन्हा के नेतृत्व में पूरी आस्था रखते हैं. इनके नेतृत्व में कुम्हरार विधानसभा क्षेत्र में हम सब दमखम के साथ जनता के बीच जाएंगे. तथाकथित कुछ भाजपा सदस्यों के द्वारा कुम्हरार विधायक अरुण कुमार सिन्हा के विरुद्ध बेवजह भ्रम फैलाया जा रहा है, जिसका हम पुरजोर विरोध करते हैं.  वही एक दूसरे मंडल अध्यक्ष श्यामसुंदर रजक ने लिखा है कि कुछ दिनों से कुम्हरार विधायक अरुण कुमार सिन्हा के विरोध में गलत तरीके से पार्टी के कुछ कार्यकर्ता बैठक कर बयानबाजी कर रहे हैं जिससे कार्यकर्ताओं में भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

टिकट कटने के भय से टेंशन में विधायक जी

जानकार बताते हैं कि कुम्हरार विस के भाजपा विधायक अरूण सिन्हा को लेकर जिस तरह से कार्यकर्ताओं में नाराजगी बढ़ रही है उससे उनकी टेंशन बढ़ गई है। लिहाजा डैमेज कंट्रोल की कोशिश शुरू की गई है। बताया जाता है कि विस क्षेत्र में पार्टी के सभी 17 मंडल अध्यक्षों से कहा गया है कि आप लोग चिट्ठी लिखकर दीजिए कि विधायक के खिलाफ कोई नाराजगी नहीं है। जो लोग विधायक कैंडिडेट बदलने की मांग कर रहे वे बीजेपी के तथाकथित कार्यकर्ता हैं.बाकि के सभी कार्यकर्ता और नेता विधायक अरूण सिन्हा के साथ खड़े हैं।अधिकांश मंडल अध्यक्ष चिट्ठी लिखकर अपने जिलाध्यक्ष को भेज रहे हैं. फिर जिलाध्यक्ष उन पत्रों पर प्रदेश मुख्यालय भेजेंगे। बीजेपी के कई मंडल अध्यक्षों का पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो गया है. 

नेतृत्व बदले उम्मीदवार

कुम्हरार विधान सभा क्षेत्र में पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में बीजेपी के कार्यकर्ता मौजूद रहे।इस मौके पर पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं को सम्मानित भी किया गया। कुम्हरार के बीजेपी नेता और पूर्व प्रदेश मीडिया प्रभारी दीपक अग्रवाल ने कहा कि क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं को अब भाजपा के विधायक अरूण सिन्हा मंजूर नहीं है।अब बहुत हुआ क्षेत्र को भगोड़ा विधायक नहीं चाहिए।वे किसी एंगल से विधायक बनने लायक नहीं हैं।ऐसे में नेतृत्व कुम्हरार विस से उम्मीदवार बदले ।ऐसा नहीं करने पर पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता उनका विरोध करेंगे।


कुम्हरार विस में लग चुका है बैनर-पोस्टर

कुम्हरार विस क्षेत्र के स्थानीय लोग बीजेपी के सीटिंग विधायक अरूण सिन्हा का भारी विरोध कर रहे हैं।स्थानीय लोग जगह-जगह पर विधायक के खिलाफ पुतला दहन कर विरोध जता रहे हैं।कुछ दिन पहले कंकडबाग के टेम्पो स्टैंड के समीप स्थानीय लोगों ने विधायक अरूण सिन्हा का पुतला दहन किया और विरोध में जमकर नारेबाजी की थी।

इसके पहले बीजेपी विधायक अरूण सिन्हा के खिलाफ पटना के कदमकुआं,राजेन्द्रनगर,कंकडबाग समेत अन्य मोहल्लों में कई पोस्टर लगाये गए थे।पोस्टर पर विधायक अरूण कुमार सिन्हा को पटना डूबोने वाले विधायक की संज्ञा दी गई थी. साथ ही नारा लिखा गया था -कुम्हरार की जनता करे पुकार-नहीं चाहिए अरुण सिन्हा इस बार....। पानी की बहार है,यही कुम्हरार है-अरुण सिन्हा को बदलना इस बार है। सभी चौक-चौराहों पर लगाये गए पोस्टर में इस तरह के नारे लिखे गए हैं।

बता दें कि बीजेपी विधायक को लेकर स्थानीय लोगों में गजब का गुस्सा है।कई दफे तो विधायक को स्थानीय लोगों ने घेरा भी है और काफी भला-बुरा भी कहा है।दरअसल स्थानीय लोगों की शिकायत है कि विधायक किसी काम के नहीं हैं।राजधानी डूबने के समय भी विधायक अरूण सिन्हा गायब रहे।काफी दिनों के बाद उनकी नींद खुली।तभी से कंकडबाग और राजेन्द्रनगर के स्थानीय लोग विधायक से खासे नाराज हैं।

Find Us on Facebook

Trending News