पूर्व पीएम अटल जी की जयंती पर 24 दिसंबर को 'अटल काव्यांजलि', जुटेंगे देश के कई दिग्गज कवि

पूर्व पीएम अटल जी की जयंती पर 24 दिसंबर को 'अटल काव्यांजलि', जुटेंगे देश के कई दिग्गज कवि

पटना. भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जन्म जयंती के अवसर पर “नीरज स्मृति न्यास” द्वारा अटल काव्यांजलि का आयोजन किया जा रहा है। इस वर्ष जन्म जयंती की पूर्व संध्या पर दिनांक 24 दिसंबर 2022 को सायंकाल काल 5:00 बजे से 8.00 बजे तक दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित एनडीएमसी कन्वेंशन हॉल में एक भव्य "अटल काव्यांजलि" का आयोजन “नीरज स्मृति न्यास” द्वारा किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय होंगे। 

इसको लेकर भाजपा के पूर्व सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि बंडारू दत्तात्रेय का निजी लगाव अटल जी से रहा है और दक्षिण भारतीय होते हुए भी उन्होंने हिन्दी काव्यांजलि में शामिल होने की सहमति दी है, जो हमारे लिए बहुत गर्व की बात है। पटना से भारत रत्न अटलजी का विशेष लगाव रहा था। वे सामान्यत: मेरे साथ ही मेरे आवास पर ही रुका करते थे। जब से 1990 में मेरा नया मकान बना, तब से शायद ही कभी वे कहीं और ठहरे।

हिंदी के प्रसिद्ध कवि गोपालदास नीरज जी का जन्म 4 जनवरी को हुआ था और स्वर्गीय अटल जी का जन्म 25 दिसंबर को हुआ था। दोनों घनिष्ठ मित्र भी थे। कवि सम्मेलनों पर अनेक बार मंच साझा किया करते थे। नीरज जी की मृत्यु अटल जी के स्वर्गवास के कुछ सप्ताह पूर्व ही हुआ, जिसके पश्चात मैंने “नीरज स्मृति न्यास” का गठन किया और विगत वर्षों में अटल जी की याद में मैंने “अटल काव्यांजलि” पूरे देश भर में करवाई थी। उसी श्रृंखला में अब मैं पुनः अटल जी की जन्मजयंती के अवसर पर 26 दिसंबर को “अटल काव्यांजलि” का आयोजन रविन्द्र भवन पटना में कर रहा हूं। पटना का कार्यक्रम 26 दिसंबर को 4 से 7 बजे सायंकाल रविन्द्र भवन में होगा। आप सभी लोग कार्यक्रम में सादर आमंत्रित हैं।

इस बार के अटल काव्यांजलि में देश भर के जाने-माने कई कवि आ रहे हैं, जिसमें पदमश्री सुरेन्द्र शर्मा, डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र, डॉ. विष्णु सक्सेना, सर्वेश अस्थाना, डॉ. रूचि चतुर्वेदी, मनवीर मधुर, शुभी सक्सेना, आराधना सिन्हा आदि प्रमुख हैं। कार्यक्रम के संचालन की ज़िम्मेदारी वीर रस के प्रख्यात कवि गजेन्द्र सोलंकी निभाएंगे।

Find Us on Facebook

Trending News