औरंगाबाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 18 लाख के इनामी नक्सली के राइट हैंड जमींदार को किया गिरफ्तार

औरंगाबाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 18 लाख के इनामी नक्सली के राइट हैंड जमींदार को किया गिरफ्तार

औरंगाबाद. जिला पुलिस ने बिहार-झारखंड के 18 लाख के इनामी नक्सली विनय यादव की गिरफ्तारी के बाद उसके राइट हैंड और भाकपा माओवादी के जोनल कमांडर युगल साह उर्फ जमींदार साह उर्फ कैलाश जी उर्फ भूपेंद्र जी को भी गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली ढ़िबरा थाना क्षेत्र के छुछिया गांव का निवासी है और वह विनय यादव की गिरफ्तारी से नक्सली संगठन को हुए भारी नुकसान की भरपाई के लिए संगठन का विस्तार करने में लगा था। वह 2015 से संगठन में कौलेश्वरी जोन के जोनल कमांडर के रूप में लीड कर रहा था।

पुलिस ने उसे ढ़िबरा थाना क्षेत्र में वन विशुनपुर नहर के पास से गिरफ्तार किया है। पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में बताया कि गुप्त सूचना मिली कि हाल ही में गिरफ्तार 18 लाख के इनामी कुख्यात नक्सली विनय यादव का राइट हैंड जमींदार साह ढ़िबरा थाना क्षेत्र में आया हुआ है और वह विनय की गिरफ्तारी से संगठन को हुए नुकसान की भरपाई के लिए संगठन से नये लोगों को जोड़ने के लिए एक मीटिंग करने वाला है। इस सूचना को उन्होंने गंभीरता से लिया। नक्सली को गिरफ्तार करने के लिए उन्होंने खुद लीड करते हुए पुलिस टीम के साथ ढ़िबरा थाना क्षेत्र में विभिन्न संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी शुरू की। इसी दौरान जोनल कमांडर जमींदार साह को वन विशुनपुर नहर के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। 

उन्होंने बताया कि पुलिस के समक्ष जमींदार साह ने स्वीकार किया है कि वह 2009 से नक्सली संगठन में सक्रिय है। इन दिनों वह इनामी नक्सली अभियुक्त विनय यादव उर्फ कमल जी उर्फ किसलय जी उर्फ मुराद जी उर्फ गुरु जी की गिरफ्तारी के बाद से औरंगाबाद जिले के मदनपुर, अम्बा, ढ़िबरा देव थाना क्षेत्र, गया जिला एवं झारखंड राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में  नक्सली संगठन को मजबूत करने हेतु लगातार सक्रिय था। यह भी स्वीकार किया कि वह 2015 से नक्सली संगठन के कौलेश्वरी जोन के जोनल कमांडर के रूप में नेतृत्व कर रहा था।

एसपी ने कहा कि नक्सली संगठन के महत्वपूर्ण ओहदेदारों की गिरफ्तारी होने से नक्सलियों का मनोबल काफी कम हुआ है और नक्सली गतिविधियों पर लगाम कसने हेतु लगातार सर्च ऑपरेशन जारी है। पुलिस के छापेमारी दल में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 29वीं वाहिनी के सहायक समादेष्टा रवि कुमार, ढ़िबरा एवं देव थाना के थानाध्यक्ष शामिल रहे। पुलिस कप्तान ने बताया कि गिरफ्तार कुख्यात नक्सली युगल साह उर्फ जमींदार साह उर्फ कैलाश जी के खिलाफ औरंगाबाद और गया जिले के विभिन्न थानों में कुल 18 मामले दर्ज है। उस पर मदनपुर थाना में 5, देव थाना में 2, ढ़िबरा थाना में 6, अम्बा थाना में 1, गया जिले के बांकेबाजार एवं आमस थाना में 4 मामला दर्ज  है। 

उन्होंने कहा कि जमींदार के नेतृत्व में ही वर्ष 2016 में ढ़िबरा थाना क्षेत्र में हरिला नाला के पास सुनियोजित तरीके से सर्च अभियान से लौट रहे सुरक्षा बलों पर नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट करने के बाद फायरिंग करते हुए हमला किया था। इस दौरान पुलिस की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई थी, जिसमें 4 नक्सली मारे गये थे और कई अत्याधुनिक शस्त्र एवं विस्फोटक पदार्थो की बरामदगी हुई थी। अन्य सीमावर्ती थानों से भी गिरफ्तार नक्सली के आपराधिक इतिहास पता लगाया जा रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News