बंगाल चुनाव को लेकर भाजपा और जेडीयू में शीत-युद्ध

बंगाल चुनाव को लेकर भाजपा और जेडीयू में शीत-युद्ध

राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में बीजेपी की सहयोगी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) भी पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में कूदने की तैयारी में है। बिहार की सियासत (Bihar Politics) अब अगले साल पश्चिम बंगाल में शिफ्ट होती दिख रही है। पश्चिम बंगाल में 2021 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए बिहार के राजनीतिक दलों की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। वहां सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने पूरा जोर लगा दिया है। जेडीयू ने पश्चिम बंगाल की 75 विधानसभा सीटों पर प्रत्‍याशी उतारने की बात कही है। खास बात यह कि वहां बीजेपी व जेडीयू के बीच बात नहीं बनी तो दोनों दल अलग-अलग चुनाव मैदान में नजर आ सकते हैं। जदयू के बंगाल में चुनाव लड़ने की चर्चा के बाद बिहार की राजनीति में एक शीत युद्ध छिड़ गई है,जदयू और भाजपा के शीत-युद्ध में क्या बिहार में भाजपा-जदयू रिश्ते में भी तपिश का अनुभव हो रही है,अपने गृह जिला कटिहार दौरे पर दो दिन के लिए पहुँचे उप-मुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद ने बंगाल में NDA की क्या भूमिका रहेगी इस सवाल के जवाब पर कहां की ऐसा कोई बात नहीं है सभी राजनीतिक पार्टी का अपने अपने राजनीतिक पृष्ठभूमि तलाशने का अधिकार है वैसे इस मुद्दे पर राष्ट्रीय नेतृत्व पूरे विषय को देख रहा है लेकिन बिहार में ऑल इज वेल है। अब सवाल यह है कि क्‍या जेडीयू पश्चिम बंगाल में बीजेपी के साथ एनडीए में रहते हुए चुनाव मैदान में कूदेगा या वहां कोई और समीकरण बनेगा? गुलाम रसूल बलियावी कहते हैं कि जेडीयू व बीजेपी नेतृत्‍व के बीच इस बाबत बातचीत होगी। अगर दोनों दलों में सहमति बनी तो साथ लड़ेंगे। हालांकि, उन्‍होंने झारखंड में बीजेपी से अलग चुनाव लड़ने का उदाहरण देकर पश्चिम बंगाल में भी सहमति नहीं बनने पर अलग सुनाव लड़ने की ओर इशारा कर दिया। 

Find Us on Facebook

Trending News