नहीं रहे 1971 के भारत-पाक युद्ध के हीरो रहे भैरों सिंह राठौड़, बॉर्डर फिल्म से रहा है खास कनेक्शन

नहीं रहे 1971 के भारत-पाक युद्ध के हीरो रहे भैरों सिंह राठौड़, बॉर्डर फिल्म से रहा है खास कनेक्शन

DESK : 1998 में रिलीज हुई फिल्म बॉर्डर में जिन किरदारों को सबसे ज्यादा पसंद किया गया था, वह था सुनील शेट्टी द्वारा निभाए गए राजस्थानी फौजी का किरदार। इस किरदार का नाम था भैरों सिंह राठौर।  फिल्म के अंत में इस किरदार को युद्ध में शहीद बताया गया था। लेकिन असली जिंदगी में भैरों सिंह जीवित थे। लेकिन अब 1971 के युद्ध  1971 के भारत-पाक युद्ध (लोंगेवाला युद्ध) में असाधारण पराक्रम दिखाने वाले भैरों सिंह राठौड़ का निधन हो गया। बीती रात ने एम्स में अंतिम सांस ली। उन्हें कुछ दिन पूर्व एम्स में भर्ती कराया गया था जहां आईसीयू में उनका उपचार चल रहा था लेकिन लगातार गिरते स्वास्थ्य के कारण आखिरकार वह जिंदगी की जंग हार गए और उनका निधन हो गया।  उनके निधन पर सेना ने भी अपनी शोक जाहर किया है।

पैतृक गांव सोलंकियात में आज अंतिम संस्कार

भैरों सिंह के निधन पर सेना सहित कई अन्य संस्थाओं के अधिकारियों ने अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की है। भैरू सिंह का शव बीएसएफ कैंप में रखवाया गया है जहां से मंगलवार को उनके गांव सोलंकियातला में अंतिम संस्कार किया जाएगा। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी भैरव सिंह के निधन पर अपनी संवेदना व्यक्त की है।

पैरालिसिस जैसे लक्ष्ण आए थे सामने, पीएम ने पूछा था हाल

1971 युद्ध की 51वीं वर्षगांठ से दो दिन पहले 14 दिसंबर को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) जोधपुर में भर्ती कराया गया। उन्हें शरीर के मूवमेंट में दिक्कत हो रही थी। कुछ पैरालिसिस जैसे लक्ष्ण सामने आए हैं। जिसके बाद उनको आईसीयू में भर्ती किया गया था, लेकिन उनके स्वास्थ्य में लगातार गिरावट होती गयी। 2 दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी भैरू सिंह के पुत्र सवाई सिंह से दूरभाष पर वार्तालाप किया था।

बीएसएफ ने राष्ट्रीय ध्वज किया समर्पित

निधन की जानकारी मिलने पर बीएसएफ के अधिकारी भी यहां पहुंचे जहां पूरे सम्मान के साथ राष्ट्रीय ध्वज भैरू सिंह को समर्पित किया गया जिसके बाद उनके कॉफिन को एम्स मोर्चरी से बीएसएफ एसटीसी कैंप ले जाया गया है। ऐम्स मोर्चरी के बाहर विभिन्न समाज ,बीएसएफ के अधिकारियों एम्स प्रशासन की ओर से और भूतपूर्व सैनिकों की ओर से भैरव सिंह को अंतिम विदाई श्रद्धांजलि स्वरूप दी गई।14वीं बीएसएफ बटालियन में तैनात भैरों सिंह राठौड़ 1987 में सेवानिवृत्त हुए। भैरों सिंह राठौड़ की दिखाई वीरता के लिए उन्हें 1972 में सेना पदक मिला। 

भारतीय सेना ने गहरा शोक व्यक्त किया

लेफ्टिनेंट जनरल अजय कुमार सिंह ने, पुणे स्थित दक्षिणी सेना कमांडर और लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कपूर, डे उन बनजर्ट कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग और भारतीय सेना के सभी रैंकों की ओर से, महान नायक भैरोसिंह के निधन पर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए माल्यार्पण किया गया। 

 उन्होंने कहा कि भैरो सिंह की वीरता आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगी और देश उन्हें मातृभूमि की क्षेत्रीय अखंडता सुनिश्चित करने के लिए उनके समर्पण और निष्ठा के लिए याद रखेगा।

Find Us on Facebook

Trending News