नीतीश सरकार का बड़ा ऐलान, 3270 आयुष डॉक्टरों की नियुक्ति का रास्ता हुआ साफ, करना होगा बस इतने दिनों का इंतजार

नीतीश सरकार का बड़ा ऐलान, 3270 आयुष डॉक्टरों की नियुक्ति का रास्ता हुआ साफ, करना होगा बस इतने दिनों का इंतजार

पटना : बिहार के आयुष संस्थानों में नियुक्ति की आस लगाए चिकित्सकों को नीतीश सरकार जल्द ही बड़ी खुशखबरी देगी. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि राज्य सरकार तीन महीने के भीतर 3,270 आयुष डॉक्टरों की नियुक्ति करेगी. उन्होंने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल ने आयुष संस्थानों के मरम्मत के लिए 825 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं. उन्होंने कहा कि आयुर्वेद और योग का आपस में गहरा संबंध है और कई आयुर्वेद चिकित्सकों ने अपने उपचार के हिस्से के रूप में योग की सिफारिश की है. राज्य में आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति की प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू होगी. इसके लिए सरकार ने तीन महीने में 3270 आयुष डॉक्टरों की नियुक्ति का फैसला किया है. 

उन्होंने कहा कि कोविड के दौर में देखने को मिला कि आयुर्वेदिक उपचार कोविड की चुनौतियों से लड़ने के लिए एक बड़ी उम्मीद के रूप में उभरा. स्वास्थ्य विभाग ने 660 नए एचडब्ल्यूसी (कल्याण केंद्र) स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है क्योंकि वर्तमान में केवल 40 कार्यशील हैं. नए नियुक्त किए गए आयुष डॉक्टरों के पास एचडब्ल्यूसी में सेवा देने की गुंजाइश होगी. 

उन्होंने कहा कि जो 3270 नए आयुष डॉक्टर भर्ती किए जाएंगे उन्हें विभिन्न संस्थानों जैसे आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक कॉलेजों, औषधालयों और स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों (एचडब्ल्यूसीएस) में तैनात किया जाएगा. मंगल पांडे ने आयुष प्रणाली के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा को बढ़ावा देने के प्रयासों के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोनों की सराहना की.


Find Us on Facebook

Trending News