BIG NEWS: पटना हावड़ा जनशताब्दी एक्सप्रेस में महिला की मौत, चलती ट्रेन में हुई थी तबीयत खराब, इलाज के अभाव में मौत

BIG NEWS: पटना हावड़ा जनशताब्दी एक्सप्रेस में महिला की मौत, चलती ट्रेन में हुई थी तबीयत खराब, इलाज के अभाव में मौत

पटना: इस वक्त की बडी खबर यह है कि पटना से हावड़ा जाने वाली 02024 जनशताब्दी एक्सप्रेस में एक महिला की चलती ट्रेन में मौत हो गयी है। मिली खबर के अनुसार महिला ने पटना जंक्शन से ट्रेन खुलने के साथ ही टीटीई को अपने सीने में दर्द होने की बात कही थी। आरोप है कि टीटीई ने इस आरोप पर खास ध्यान नहीं दिया था। किउल में डॉक्टर के आने तक महिला की मौत हो गयी थी। महिला कोलकाता की बतायी जा रही है।

मिली खबर के अनुसार कोलकाता की 56 वर्षीया रोशिता ल्यूकस ने बुधवार को पटना से हावड़ा जाने वाली 02024 जनशताब्दी एक्सप्रेस से अपने सफर की शुरुआत की थी। महिला ने ट्रेन खुलने के साथ ही अपनी तबीयत के बारे में टीटीई को जानकारी दी। महिला को सही वक्त पर इलाज नहीं मिला। लगातार कई स्टेशन गुजरने के बाद किउल में जब महिला की ट्रीटमेंट करने की कोशिश की गयी, तबतक उसकी मौत हो चुकी थी।

टीटीई ने आरोप किया खारिज

इधर अपने ऊपर लगे आरोप को टीटीई द्वारा खारिज करने की खबर है। टीटीई का कहना है कि उसने पटना सिटी स्टेशन पर ही महिला के बीमार होने की सूचना दे दी थी। वहां इलाज की सुविधा नहीं होने पर दानापुर कंट्रोल रूम में इसकी सूचना दी गयी थी। मिली जानकारी के अनुसार महिला ने पटना जंक्‍शन पर ही टीटीई से शिकायत की। ट्रेन जब पटना सिटी स्टेशन पर रुकी, तब महिला ने फिर से टीटीई से शिकायत की। बताया जा रहा है कि जब तक टीटीई इसकी सूचना किसी को देते, ट्रेन खुल चुकी थी। इसके बाद टीटीई ने महिला को मोकामा में डाक्टर बुलाने का आश्वासन दिया, लेकिन ट्रेन के इसके पहले बख्तियारपुर पहुंचने के पहले ही उसकी हालत गंभीर हो गई। मोकामा पहुंचते-पहुंचते वह अचेत हो गई। मोकामा में भी कोई चिकित्सक उसकी मदद करने नहीं पहुंचा। आगे ट्रेन के किउल पर पहुंचने पर डॉक्टरों की टीम ने उसे देखकर मृत घोषित कर दिया। 

मिलता वक्त पर इलाज तो बच सकती थी जान

मिली खबर के अनुसार किउल के डॉक्टरों ने कहा कि महिला का इलाज पटना सिटी अथवा बख्तियारपुर में हो जाता तो शायद उनकी जान बच जाती। घटना के बाद रेल अधिकारियों ने बताया कि महिला की सूचना स्‍वजनों को दे दी गई है। बताया गया है कि महिला पहले से ही ह्रदय रोग व उच्च रक्तचाप की मरीज थीं।

Find Us on Facebook

Trending News