बिहार विधानसभा उपचुनाव: बिहार आएंगे लालू यादव, राजद के लिए कर सकते हैं चुनाव प्रचार

बिहार विधानसभा उपचुनाव: बिहार आएंगे लालू यादव, राजद के लिए कर सकते हैं चुनाव प्रचार

पटना. 30 अक्टूबर को बिहार विधानसभा का दो सीटों पर उपचुनाव होने वाला है. इसको लेकर राजद और जदयू अपने-अपने प्रत्याशी घोषित कर दी है. इस बीच राजद सुप्रीमो लालू यादव के दिल्ली से बिहार आने की सूचना मिल रही है. वे उप चुनाव में राजद के लिए प्रचार भी कर सकते हैं. वहीं बताया ये भी जा रहा है कि तेजप्रताप यादव के लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बनाए जाने के आरोपों के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव बिहार आकर डैमेज कंट्रोल की कोशिश करेंगे.

जनाकारी के अनुसार लालू 22 अक्टूबर को पटना आ सकते हैं. इस दौरान वे कुश्वेश्वरस्थान और तारपुर सीटों पर होने वाले उपचुनाव में पार्टी के प्रत्याशी की जीत के लिए प्रचार करेंगे. चारा घोटाले के मामले में इसी साल अप्रैल में जमानत पर रिहा लालू अभी दिल्ली में बड़ी बेटी व राज्यसभा सदस्य मीसा भारती के सरकारी आवास पर रह रहे हैं. काफी दिनों से उनके राजधानी आने के कयास लगाए जा रहे थे.

शनिवार को अपने संगठन छात्र जनशक्ति परिषद के प्रशिक्षण शिविर में राजद सुप्रीमो के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने यह कहते हुए सियासी गलियारे में हलचल तेज कर दी थी कि लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बनाकर रखा गया है. समस्तीपुर की हसनपुर विधानसभा के विधायक तेजप्रताप ने इशारों में तेजस्वी यादव पर आरोप लगाया था. तेजप्रताप इतने में ही नहीं रुके थे, उन्होंने कहा कि कुछ लोग राजद अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं पर यह सच नहीं होने वाला.

तेजप्रताप ने यह भी कहा था कि लालू यादव के रहते पार्टी के दरवाजे बिहार की जनता के लिए खुले रहते थे, मगर अब रस्सा बंध गया है. तेजप्रताप ने कहा कि मैंने पिताजी से कहा कि पटना चलिए, साथ रहेंगे. पहले हमारे घर का दरवाजा खुला रहता था. आप आउटहाउस में बैठे रहते थे और जनता से मिलना-जुलना होता था, किंतु अब क्या हो रहा है. उन्होंने कहा कि लालू के दिल्ली में रहने के कारण जनता हमसे दूर हो गई है. हालांकि बड़े भाई तेजप्रताप के बयान के बाद तेजस्वी ने सफाई देते हुए रविवार को कहा है कि राजद सुप्रीमो को कौन बंधक बना सकता है. 


Find Us on Facebook

Trending News