नौकरी देने को लेकर क्रेडिट लेने पर बुरी तरह ट्रोल हो गए बिहार के डिप्टी सीएम, ट्विटर पर लोगों ने कह - पूर्व की सरकार के काम को अपना बताना बंद करें

नौकरी देने को लेकर क्रेडिट लेने पर बुरी तरह ट्रोल हो गए बिहार के डिप्टी सीएम, ट्विटर पर लोगों ने कह - पूर्व की सरकार के काम को अपना बताना बंद करें

PATNA : बिहार में महागठबंधन की सरकार के द्वारा आज 4325 राजस्व कर्मचारियों को आज नियुक्ति पत्र द्वारा बांटा जा रहा है। जिसको लेकर अब सियासत भी शुरू हो गई है। बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने इन नियुक्तियों को लेकर अपनी सरकार का क्रेडिट लेते हुए बीजेपी वाली एनडीए सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्विट किया कि जो काम भाजपा ने नहीं किया, वह हम मिलकर पूरा करेंगे। लेकिन तेजस्वी यादव अपने इसी ट्विट को लेकर बुरी तरह से ट्रोल हो गए हैं। सोशल मीडिया पर उन्हें झूठा क्रेडिट लेने पर जमकर खिंचाई की गई है।

दरअसल, इन नियुक्तियों को लेकर आज तेजस्वी यादव ने ट्विट किया कि झूठ और नफ़रत का कारोबार करने वाली BJP ने हमेशा नौकरी और रोजगार के नाम पर देश-प्रदेश के युवाओं को ठगा है। भ्रमित किया है। ...जो भाजपा ने नहीं किया और जो भाजपा सरकार कर नहीं पा रही है। वो हम लोग मिलकर पूरा करेंगे।... आज 4325 नवनियुक्त राजस्व कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र दिया जाएगा।...

एक तरफ जहां तेजस्वी यादव अपनी सरकार की तारीफ करने में लगे हैं। वहीं दूसरी पूर्व राजस्व मंत्री राम सूरत राय ने इस पर सवाल उठा दिए हैं। उन्होंने लिखा है कि यह महागठबंधन नहीं ठगबंधन की सरकार है जो जनता की आंखों में धूल झोंक रही है।  2अगस्त22 को पुरानी सरकार ने 4235 नवनियुक्त राजस्व कर्मचारियों को जिला आवंटित कर, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के वेबसाइट पर अपलोड कर दिया था। उसका श्रेय पुनः लेने का यह घृणित प्रयास है|

ट्विटर पर लोगों ने किया ट्रोल

वहीं इन नियुक्तियों को लेकर तेजस्वी को जमकर ट्रोल किया जा रहा है। एक यूजर ने लिखा है कि ये किस स्तर की राजनीति है जो आपको देना है वो तो दे नहीं रहे उपर से जो बहाली @BJP4Bihar @BJP4India @RamsuratRai  के समय ही पूरी हो चुकी है उसकी झूठी मार्केटिंग कर रहे हैं जनता सब समझती है जो आप करें वो ही दिखाएँ उल्टा उनके time की प्रस्तावित 7th फेज stet2019 बहाली तो लटका दिया गया 

वहीं दूसरे यूजर ने लिखा है कि @yadavtejashwi @TejashwiOffice  जी अभी तक तो आपने एक भी रिक्तियाँ निकली नही,2014 की vacancy जो कि 8 साल में पूरी हुई और जिस vacancy को निकालने में आपका हाथ तो क्या शरीर का एक बाल भी नही था,उसको इस तरह से प्रचार कर रहे है।युवा बेवकूफ नही है।जल्द से जल्द vacancy निकाले और समय से.... 

एक और यूजर ने लिखा है कि @yadavtejashwi बिहार के युवाओं कों मुर्ख समझे है क्या? यह 2014 की वैकेंसी है! जिसका नियुक्ति पत्र बिहार के पूर्व राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री श्री @RamsuratRai जी के द्वारा इसी वर्ष 3अगस्त2022को 4325 नवनियुक्तों को दिया जा चुका है! यह बात श्री @NitishKumar जी को भी पता है! हद है! 

दरअसल, जिन नियुक्तियों का जिक्र कर तेजस्वी यादव अपनी सरकार को क्रेडिट दे रहे हैं, उसकी मेरिट लिस्ट के साथ जिलों में उनकी नियुक्ति की लिस्ट पूर्व की एनडीए सरकार ने पहले ही जारी कर दी थी। बीते दो अगस्त को पूर्व राजस्व एवं खनन मंत्री राम सूरत राय प्रेस वार्ता कर इन नियुक्तियों की पूरी लिस्ट मीडिया के साथ शेयर की थी, साथ ही यह दावा किया था कि इसमें पूरी तरह से पारदर्शिता बरती गई है। लेकिन, लिस्ट निकालने के बाद उनकी नियुक्ति पत्र बांटे जाते, बिहार में एनडीए की सरकार टूट गई और नीतीश कुमार ने राजद के साथ सरकार बना लिया। ऐसे में एनडीए की सरकार में जो नियुक्ति नहीं हो पाई, उसे ही आज महागठबंधन सरकार अपना बनाने की क्रेडिट ले रही है।


Find Us on Facebook

Trending News