DMCH का कारनामा, हड्डी टूटी बाएं हाथ की और डॉक्टर ने प्लास्टर किया दाएं हाथ का

DMCH का कारनामा, हड्डी टूटी बाएं हाथ की और डॉक्टर ने प्लास्टर किया दाएं हाथ का

PATNA : मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत और एसकेएमसीएच की बदहाली का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि दरभंगा के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल  डीएमसीएच के डॉक्टर की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां एक डॉक्टर ने एक बच्चे के टूटे हुए बाएं हाथ की जगह दाएं हाथ पर प्लास्टर कर दिया।

बता दें कि हनुमान नगर के रहने वाले मासूम फैजान आम के पेड़ से गिर गया था। इस हादसे में उसके बाएं हाथ की हड्डी टूट गई। परिजन फैजान को दरभंगा के DMCH में इलाज़ के लिए लेकर गए। यहां X-Ray में यह पता लगा कि बच्चे के बाएं हाथ में फ्रैक्चर है, लेकिन डॉक्टर ने बच्चे के टूटे हुए बाएं हाथ के बदले बच्चे के दाहिने हाथ पर ही प्लास्टर कर दिया। 

बताया जा रहा है कि बच्चे ने डॉक्टर को अंदर प्लास्टर के समय भी बताया, लेकिन सभी ने उसकी बातों को अनसुना कर दिया. जबकि डॉक्टर के लिखे प्रिस्क्रिपशन में भी बाएं हाथ टूटने के बारे में लिखा हुआ था। पीड़ित की मां नुजहत खातून ने बताया कि मेरे बेटे फैजान का पलास्टर कराने के लिए मैं यहां आई थी। डॉक्टर ने पलास्टर बाएं हाथ की जगह दाहिने हाथ का कर दिया।

परिजनों ने जब यह देखा तो इसकी शिकायत DMCH के अस्पताल अधीक्षक से की। अस्पताल अधीक्षक डॉक्टर राज रंजन प्रसाद ने खुद बच्चे की पूरी रिपोर्ट के साथ-साथ बच्चे को देखा और साफ शब्दों में कैमरे पर यह माना कि यह गलती हुई है।

डीएमसीएच के अधीक्षक ने संबंधित डॉक्टर से स्पष्टीकरण मांगा है और यह कहा है कि दोषियों के ऊपर कार्रवाई जरूर होगी। इस पूरे मामले के सामने आने के बाद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने भी अस्पताल प्रशासन से जवाब मांगा है। 

Find Us on Facebook

Trending News