बिहार में डॉक्टर से लेकर चपरासी तक के करीब 5500 पदों के लिए होगी बहाली...जल्द शुरू होगी प्रक्रिया

बिहार में डॉक्टर से लेकर चपरासी तक के करीब 5500 पदों के लिए होगी बहाली...जल्द शुरू होगी प्रक्रिया

PATNA: बिहार सरकार ने  डॉक्टर से लेकर चपरासी तक करीब 5500 नए पदों की स्वीकृति दी है।अलग-अलग महकमों में साढ़े पांच हजार से अधिक पदों पर बहाली करेगी। स्वास्थ्य विभाग में 2340 आयुष डॉक्टर, न्यायालयों में विभिन्न कोटि के 2178 पद, पंचायती राज विभाग में 589 और 229 अंगीभूत कॉलेजों में पर्यावरण विज्ञान विषय के 229 सहायक प्राध्यापकों की बहाली होगी।बिहार सरकार ने प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।  

पंचायतों को दी जाने वाली राशि के अंकेक्षण के लिए अंकेक्षक के 373, वरीय अंकेक्षण अधिकारी के 174, जिला अंकेक्षण पदाधिकारी के 41, मुख्य अंकेक्षण पदाधिकारी के एक समेत कुल 589 पदों को मंजूरी दी गई है।  

बिहार के 2772 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए आयुष डॉक्टरों के एक-एक पद स्वीकृत हैं। 432 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आयुष डॉक्टर हैं। 2340 में आयुष डॉक्टर नहीं थे। जिसके बाद इन स्वास्थ्य केंद्रों के लिए कुल 2340 पद सृजित किए गए हैं। स्वीकृत पदों में आयुर्वेद  के 50 प्रतिशत, होमियोपैथ के 30 और यूनानी डॉक्टरों के 20 प्रतिशत पद हैं।  

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अंतर्गत जलवायु परिवर्तन संभाग की स्थापना का प्रस्ताव स्वीकृत किया है। सरकार के फैसले के बाद जलवायु परिवर्तन का अध्ययन करने के लिए इस संभाग में विशेषज्ञ, वैज्ञानिक जैसे पद होंगे। मंत्रिमंडल ने इस संभाग के लिए कुल 29 पदों पर बहाली का प्रस्ताव स्वीकृत कर दिया है। इसके अलावा मंत्रिमंडल ने सामान्य प्रशासन विभाग में करीब 15 पद और कोर्ट के आदेश पर शिशु रोग विभाग में तीन छाया पद सृजन की भी मंजूरी दी है। 

अलग-अलग न्यायालयों के सही प्रकार से संचालन के लिए मंत्रिमंडल ने विभिन्न स्तर के 2178 पद सृजित किए हैं। इनमें विभिन्न स्तर के न्यायिक पदाधिकारियों के लिए वर्ग तीन कोटि के 1645 और वर्ग चार कोटि के 533 पद कुल 2178 पद हैं।  


Find Us on Facebook

Trending News