BIHAR NEWS: पूर्व MLA जनार्दन मांझी का हुआ अंतिम संस्कार, सीएम ने व्यक्त किया शोक, ग्रामीण कार्य मंत्री से बातचीत कर दी सांत्वना

BIHAR NEWS: पूर्व MLA जनार्दन मांझी का हुआ अंतिम संस्कार, सीएम ने व्यक्त किया शोक, ग्रामीण कार्य मंत्री से बातचीत कर दी सांत्वना

BANKA/PATNA: जेडीयू के पूर्व विधायक जनार्दन मांझी का मंगलवार को पटना के पारस हॉस्पिटल में निधन हो गया। उनके निधन के बाद राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर है। पिछले सप्ताह ही बौंसी आवास पर वह अपने बाथरूम में गिरकर जख्मी हो गए थे। इसके बाद उनका इलाज पटना के अस्पताल में चल रहा था। बुधवार को उनका पार्थिव शरीर बांका लाया गया। जहां पैतृक आवास पर उनका अंतिम संस्कार किया गया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस संबंध में दिवंगत जनार्दन मांझी के पुत्र और राज्य सरकार में ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज से फोन पर बातचीत कर शोक संतप्त परिवार को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि स्वर्गीय जनार्दन मांझी एक कुशल राजनेता थे। वह लगातार 15 वर्षों तक विधायक रहे थे। इसके अलावा वह बांका जिले के बेलहर विधानसभा क्षेत्र से एक बार और अमरपुर विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक रहे थे। वह अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। मुख्यमंत्री ने उन्हें याद करते हुए कहा कि उनसे मेरा व्यक्तिगत संबंध था। उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है।

10 जुलाई को पूर्व विधायक बौंसी स्थित अपने आवास पर पैर फिसलने से गिर गए थे। उनके सिर में गंभीर चोट लगी थी। उन्हें पटना ले जाया गया था। रविवार को पारस हॉस्पिटल में उनके सिर का ऑपरेशन हुआ था। वे काफी सरल एवं सादगी से जीवन बिताने वाले राजनीतिज्ञ थे। उन्होंने 1995 में राजनीति की शुरुआत बांका के पूर्व सांसद और केंद्रीय मंत्री स्व. दिग्विजय सिंह के साथ की थी। उसी समय समता पार्टी के टिकट पर पहली बार कटोरिया विधानसभा से चुनाव लड़ा था। 2001 में बौंसी से जिला पार्षद बने थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते थे। अपने पीछे इकलौते पुत्र ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज सहित भरापूरा परिवार छोड़ गए हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News