BIHAR NEWS: अजब-गजब! दिल्ली में पति, ससुराल के बाहर धरने पर बैठी पत्नी, हाई-वोल्टेज ड्रामे का ऐसे हुआ अंत

BIHAR NEWS: अजब-गजब! दिल्ली में पति, ससुराल के बाहर धरने पर बैठी पत्नी, हाई-वोल्टेज ड्रामे का ऐसे हुआ अंत

BHAGALPUR: भागलपुर के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत घाट रोड के गोपाल गेट के समीप एक पत्नी ससुराल के दरवाजे पर बैठकर धरना दे रही है। पति द्वारा छोड़े जाने से आहत महिला ने यह कदम उठाया है। ग्रामीणों ने ससुरालवालों को समझाने की लाख कोशिशें की, पर वह भी जूली को घर में रखने को तैयार नहीं हुए।

मामले में जूली देवी ने बताया कि उसकी शादी परमेन्द्र चौधरी से दस साल पहले हुई थी। उनके तीन बच्चे अंश कुमार उम्र (8 वर्ष), प्राची कुमारी (5 वर्ष) और प्रज्ञा कुमारी (3 वर्ष) हैं। शादी के बाद नौकरी के सिलसिले में दंपति दिल्ली में रहते थे। इस दौरान सुसराल आना-जाना लगा रहता था। अभी अचानक पति उसे छोड़कर दिल्ली रवाना हो गए। इसकी भनक लगने पर जूली देवी मायके से ससुराल पहुंची तो उनका शक यकीन में बदल गया। हैरानी की बात यह है कि पति के बाहर जाने के बाद से ससुराल में जूली से अजनबियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। सास उषा देवी उसे घर में रहने नहीं दे रही। इस कारण घर के मुख्य दरवाजे पर तीनों बच्चे के साथ धरना देकर बैठी है। 

वहीं इस मामले में जब लोगों ने सास उषा देवी से बात की तो उनका एक सुर में यही कहना था कि जब मेरा बेटा वारहपस आएगा तभी इसे ससुराल में रहने दिया जाएगा। परमेन्द्र चौधरी से मोबाइल से बातचीत होने पर कहा कि वह दिल्ली से एक महीने बाद आएगा। तबतक जूली मायके में जाकर रहे। इस अजीब से बर्ताव को देखकर ग्रामीण भी पशोपेश में पड़ गए। घंटो यह हाई-वोल्टेज ड्रामा जारी रहा। जिसके बाद दो वार्ड पार्षद रमायण शरण गुप्ता और नवीन कुमार बन्नी पहुंचे। उन्होनें परिजनों से बातचीत की। आपसी सलाह मशविरे के बाद जूली देवी अपनी मां के साथ मायके तारापुर धौनी चली गई।

Find Us on Facebook

Trending News