बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने की समय से पूर्व गर्मी की छुट्टी घोषित करने की मांग, कोरोनाकाल में 100 शिक्षकों की हो चुकी है मौत

बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने की समय से पूर्व गर्मी की छुट्टी घोषित करने की मांग, कोरोनाकाल में 100 शिक्षकों की हो चुकी है मौत

PATNA: बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष श्री केदारनाथ पांडे एवं प्रभारी महासचिव श्री विनय मोहन बयान ने संयुक्त बयान में कहा है कि पूरे विश्व में कोरोना महामारी घातक रूप ले चुकी है. बिहार में इस महामारी से अब तक एक लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और कई गंभीर मरीज विभिन्न अस्पतालों में इलाजरत हैं. बिहार सरकार ने सचिवालय से लेकर सभी मुफस्सिल कर्मचारियों के लिए 25% उपस्थिति की अनिवार्यता की है. इसी बीच कुलाधिपति के आदेश से 1 मई से 30 मई तक गर्मी की छुट्टी भी घोषित कर दी गई.

इसी संबंध में माध्यमिक शिक्षक संघ ने बिहार सरकार से सुरक्षा की गुहार लगाई है. शिक्षक संघ ने शिक्षा मंत्री से समय से पूर्व गर्मी की छुट्टी घोषित करने की गुहार लगाई है. कोरोना महामारी की भयावहता को देखते हुए शिक्षा विभाग से जल्द फैसला लेने की उम्मीद जताई है.

इस कोरोना काल में बिहार सरकार के माध्यमिक शिक्षा से जुड़े लगभग 100 शिक्षकों की मौत हो चुकी है. इसके बावजूद शिक्षा विभाग इस संबंध में फैसला नहीं ले पा रहा है. जबकि हाल ही में शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा पदाधिकारी, जो नालंदा में पदस्थापित थे, उनकी जान कोरोना से चली गई. राज्य के विभिन्न जिलों के जो हालात हैं, उसमें प्रत्येक विद्यालय के अधिकांश शिक्षक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. पठन-पाठन तो पहले से ही बंद है मगर शिक्षकों का स्कूल आना जारी है, जिस वजह से एक-दूसरे के संपर्क में आकर शिक्षक तेजी से संक्रमित हो रहे हैं.


Find Us on Facebook

Trending News