बिक्रम थानेदार 'बेबस' पब्लिक पर ढाता है जुल्म! आम लोगों का फूटा आक्रोश, पुलिसिया जुल्म के खिलाफ सड़क पर उतरे सैंकड़ों लोग

बिक्रम थानेदार 'बेबस' पब्लिक पर ढाता है जुल्म! आम लोगों का फूटा आक्रोश, पुलिसिया जुल्म के खिलाफ सड़क पर उतरे सैंकड़ों लोग

PATNA: पटना के बिक्रम थानेदार के खिलाफ लोगों का गुस्सा आज फूट पड़ा। बिक्रम थाना के नजदीक शहीद चौक के पास लोगों ने सड़क जामकर थानेदार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। लोगों ने बिक्रम थानेदार ऋतुराज के खिलाफ आरोप लगाया कि थाना प्रभारी का सांठगांठ बालू माफिया, शराब माफिया और अपराधियों से रहा है। इसके कारण बिक्रम में अपराध के ग्राफ तेजी से बढ़ा है। शराब माफिया और बालू माफियाओं का यहां बोलबाला है। सड़क जाम के कारण यातायात दोनों तरफ पूरी तरह ठप हो गई और दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी लंबी कतारें लग गई।

शहीद चौक के पास सड़क जाम कर रहे लोगों ने खुलेआम आरोप लगाया कि बिक्रम थानेदार ऋतुराज के इलाके में आधा दर्जन से अधिक वारदातें हो चुकी है। इसमें दिनाबीघा गोलीबारी कांड, नगहर हत्याकांड, बेलोरो लूट, गोराखरी गोलीबारी, मोरियावा गांव मे हत्या, पड़ियावा गांव में युवक की हत्या, मठबलियारी गांव मे ईश्वरचंद्र नन्हू राय की हत्या शामिल हैं। इसके अलावा थाना से सटे नगहर गांव के चौक पर होटल मालिक सुरेंद्र यादव की हत्या का मामला भी है। इनसब के अलावा भी कई मामले यहां आए लेकिन थाना प्रभारी द्वारा अभी तक इन मामलों में कोई कार्रवाई नहीं की गई। लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि बिक्रम थाना प्रभारी यहां हिटलर की भूमिका अदा कर रहे हैं। थाना पर दलालों का अड्डा जमा रहता है और यहां न्याय के लिए पहुंचने वाले लोगों को प्रताड़ित किया जाता है। लोगों ने प्रत्यक्ष उदाहरण देते हुए बताया कि हाल में मोरियामा गांव के अभय कुमार, जो बिहार सरकार के कृषि विभाग के सहायक तकनीक प्रबंधक के रूप में हरनौत ब्लॉक में पदस्थापित हैं, उनके आवास से 19 जुलाई को सरकारी टैब के अलावा एक बाइक चोरी हो गई थी। 


जब वह केस करने थाना गए तो थानेदार द्वारा उनके साथ बदतमीजी की गई थी। थाने में 4 घंटे तक बंधक बनाकर बदतमीजी और गाली गलौज किया गया था। थानेदार ने उन्हें मां-बहन की हजारों गालियां दी गयी थी। जब पीड़ित ने आत्मदाह की धमकी दी तब जाकर केस लिया गया था। इन्हीं सब मामलों से आक्रोशित लोगों ने कहा कि जब तक पुलिस के आला अधिकारी बिक्रम थानेदार पर कार्रवाई नहीं करते हैं, तब तक वे जाम स्थल से नहीं हटेंगे। जाम का नेतृत्व कर रहे बिक्रम कांग्रेस प्रखण्ड अध्यक्ष गुड्डू सिंह ने कहा कि वेद थाना प्रभारी के खिलाफ पूर्व में ही अनुमंडल पदाधिकारी को लिखित आवेदन देकर उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाया था। गुड्डू सिंह ने कहा कि बिक्रम थानाध्यक्षय ऋतुराज सिंह पीड़ित के साथ दुर्व्यवहार व गाली गलौज करते हैं। हाल के दिनों में सरकारी लोक सेवक का सरकारी टैब चोरी हो जाने पर कांड दर्ज कराने गये पीड़ित के साथ दुर्व्यहार सहित अन्य आरोप लगया है। जिसको लेकर स्थानीय विधायक सिद्धार्थ सौरव सहित उनके समर्थकों ने मंगलवार को शहीद चौक पर धरना सहित चक्का जाम का निर्णय लिया है।

इससे पहले भी गाली देने का लग चुका है आरोप

बिक्रम थाने में 7 जून 2020 को एक लड़की के गायब होने की शिकायत परिजनों ने दर्ज करायी थी। इसी केस के मामले में पीड़िता के भाई ने जब थानेदार से बातचीत की, तब जुबान से बिगड़ैल थानेदार ने उल्टे लड़की के भाई को ही मां-बहन की हजारों गालियां दी थी। इसका ऑडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसके बाद भी अपने आप को तेजतर्रार मामने वाली पटना पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों ने थानेदार ऋतुराज पर कोई कार्रवाई नहीं की थी।


Find Us on Facebook

Trending News