शिक्षक अभ्यर्थियों की पिटाई पर भाजपा विधायक ने नीतीश सरकार पर किया हमला, कहा सरकार रोज़गार मांगने पर सजा देती है

शिक्षक अभ्यर्थियों की पिटाई पर भाजपा विधायक ने नीतीश सरकार पर किया हमला, कहा सरकार रोज़गार मांगने पर सजा देती है

BHAGALPUR : बिहपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक इंजीनियर शैलेंद्र ने महागठबंधन सरकार पर जमकर भड़ास निकाला है। उन्होंने कहा की 20 लाख लोगों को रोज़गार देने की बात करने वाले महानुभाव किस तरह रोज़गार माँगने पर सजा देती है देख लीजिए।


उन्होंने कहा की अभी तक छठे चरण की शिक्षक भर्ती हुई है, जिसमें 94000 पदों पर बहाली होनी थी। लेकिन केवल 42000 पदों पर नियुक्ति हो पाई। 50,000 से ज्यादा पद खाली रह गए हैं। पिछली सरकार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने जुलाई में सातवें चरण की भर्ती का आश्वासन दिया। लेकिन जुलाई में जब भर्ती पर कोई प्रक्रिया शुरू नहीं हुई तो 1 अगस्त को अभ्यर्थी धरना पर बैठ गए। इस बीच लगातार अभ्यर्थी धरना देते रहे। अभ्यर्थियों ने नए शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर से संपर्क किया। लेकिन शिक्षा मंत्री से जब मिलने जाते हैं तो वह अभ्यर्थी को बिल्कुल दांत कर भगा देते या तो उन्हें कहते कि फोटो खिंचवा लो और राजनीति करो। जब अभ्यर्थी समझ गए कि उनकी बात नहीं सुनी जाएगी तो इस बात सरकार को ध्यान आकृष्ट कराने के लिए राजभवन तक मार्च पर निकल गए।

लेकिन डाक बंगला पहुंचते ही महागठबंधन सरकार के अधिकारी एडीएम ने लाठी डंडे से उन्हें मारना चालू कर दिया। 2020 के विधानसभा चुनाव में राजद को रोजगार एवं शिक्षक हित के बातों पर ही बिहार की जनता ने उतनी सीटों पर विजय दी थी। वहीं राजद के मंत्री एवं अधिकारी ने काफी बर्बरता पूर्ण से लाठीचार्ज किया। यहां तक कि जब एक अभ्यर्थी भारत की शान राष्ट्रीय ध्वज अपने सीने से लगाए हुए थे। उन्हें भी इन अधिकारियों ने डंडे से मार कर घायल कर दिया।

उन्होंने कहा की तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव 2020 में जनता से वादा किया था कि उनकी पहली कैबिनेट बैठक में वह पहले दस्तखत से 1000000 नौकरी देंगे कहां गया उनका वादा। सातवें चरण की शिक्षक अभ्यर्थी के लिए 150000 रिक्तियां हैं और यह लोग तो केवल 120000 हैं। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने शिक्षा मंत्री को ठीक ही कहा कि कारतूस चलाने वाले को कलम दे दिया है तो आज उनका कहा वह बात सत्य साबित हुआ। तेजस्वी यादव अभी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ बाते कह रहे थे कि कुछ बातें प्रोटोकॉल में की जाती है। उनका सीधा हमला नीतीश कुमार पर था, सत्ता में नीतीश कुमार से ज्यादा पावर अभी तेजस्वी यादव के पास है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द कुछ अच्छा सुनने को मिलेगा, जनता सब समझ रही है। 

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News