योजना फाईल में-शिलापट्ट जमीन परः BJP विधायकों ने 2 महीना पहले ही 'काट' दिया था फीता,अब जाकर माननीय की खुली पोल

योजना फाईल में-शिलापट्ट जमीन परः BJP विधायकों ने 2 महीना पहले ही 'काट' दिया था फीता,अब जाकर माननीय की खुली पोल

MOTIHARI: नेता फीता काटने में आगे रहते हैं। फीटा काटने में नेताओं को अति आनंद की अनुभूति होती है। अब जरा देखिये न....योजना का टेंडर हुआ नहीं और माननीय ने फीटा काट काम का शिलान्यास भी करा दिया। सरकार ने अखबार में जब योजना का टेंडर निकाला तब जाकर फीता काटने वाले विधायकों और वहां मौजूद अधिकारियों की पोल खुली। 

विधायकों के फीता काटने की खूब हो रही चर्चा 

फीता काटने में नेताओं की तेजी की ये खबर मोतिहारी के अरेराज की है। बीजेपी के दो विधायकों ने दो महीना पहले ही शिलान्यास कर दिया। जबकि उस कार्य के लिए टेंडर का विज्ञापन 13 अप्रैल को प्रकाशित की गई। विज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि परिमाण पत्र की बिक्री 4 मई से 10 मई तक की जायेगी। योजना का नाम है पूर्वी चंपारण अंतर्गत अरेराज प्रखंड के अरेराज में सोमेश्वरनाथ महादेव मंदिर में चाहरदीवारी निर्माण का कार्य। इस कार्य को 6 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। कार्यपालक अभियंता स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन मोतिहारी की तरफ से विज्ञापन जारी किया गया है।

13 फऱवरी को हुआ था शिलान्यास

टेंडर के पहले ही शिलान्यास करने की चर्चा विस क्षेत्र में जोरों पर है। टेंडर निकलने के बाद आमलोग यह कहते नही थक रहे कि शिलान्यास व फीता काटने की होड़ में बिना टेंडर के ही माननीय तबातोड़ शिलान्यास कर कार्य गिनाने में जुटे हैं । पूरे तामझाम से 13 फरवरी को गोबिंदगंज से भाजपा विधायक सुनील मणि तिवारी व हरसिद्धि विधायक कृष्णंदन पासवान ने संयुक्त रूप से सोमेश्वरनाथ महादेव मंदिर की चाहरदीवारी निर्माण का शिलान्यास किया था। इस दौरान मोतिहारी के डीएम और अरेराज के एसडीओ भी मौजूद थे। शिलान्यास कार्यक्रम को भव्य बनाया गया था,स्थळ को सजाया गया था। इसको विधायकों और अधिकारियों ने फीता काटा और इस ऐतिहासिक क्षण को खूब फोटोग्राफी हुई।

मैनेज टेंडर मैनेज का खेल तो नहीं?

फीता काटने के दो महीने बाद 13 अप्रैल को उक्त कार्य का टेंडर निकला तो लोग देखकर आश्चर्य चकित हो गए । शहर में लोग यह कहते नही थक रहे कि बिना टेंडर के शिलान्यास के क्या मायने? जब योजना का टेंडर मई  महीने है तो शिलान्यास फरवरी में करने की क्या जरूर थी। साथ ही 2 महीना जो शिलान्यास का तामझाम किया गया उसका खर्च किसने किया? क्या ये टेंडर मैनेज होगा और खास को टेंडर दिया जायेगा? 

अरेराज एसडीओ ने भी जताया आश्चर्य

उस ऐतिहासिक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे अरेराज एसडीओ ने भी कहा कि हां वे शिलान्यास कार्यक्रम में गये थे। अब पता चला है कि उसका टेंडर अखबार में रिलीज हुआ है। इस पर हाकिम भी आश्चर्य जताने लगे।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News