बीजेपी सांसद का नीतीश सरकार पर हमला, कहा बिहार में पुलिस की मिलीभगत से होती है शराब की बिक्री

बीजेपी सांसद का नीतीश सरकार पर हमला, कहा बिहार में पुलिस की मिलीभगत से होती है शराब की बिक्री

AURANGABAD : जहरीली शराब के सेवन से मदनपुर प्रखंड में 22 लोगो की मौत पर मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा है। वहीं मृतकों का दाह संस्कार कर देने के बाद परिजन पुलिस की लगातार दबिश से डरे सहमे है। ऐसे वक्त में रात में पुलिस ग्रामीणों से यह जानने के लिए दबिश डाल रही है कि जहरीला शराब कहां से आया था। इलाके में कौन इसकी सप्लाई करता है। लेकिन स्थानीय कारणों से ग्रामीण इसे बताने से परहेज कर रहे है। इसको लेकर पुलिस की कार्यशैली से ग्रामीण खफा है।

वहीं मृतक की आक्रोशित बेटी निशि ने पुलिस पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा डाला कि शराबबंदी की धज्जियां चंद पैसों के लिए खुद पुलिस उड़ा रही है। निशि ने सलैया थानाध्यक्ष तथा मदनपुर थानाध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि दोनो खुलेआम शराब का सेवन करते है तथा चंद पैसे लेकर गाँव मे शराब भी बेचवाते है। हालांकि जहरीली शराब से मौत होने के 4 दिन बाद सांसद सुशील कुमार सिंह मदनपुर प्रखंड के खिरियावां, बेरी तथा रानीगंज गाँव पहुंचे। जहां पीड़ितों के परिवार से मिल पूरी जानकारी ली और हर संभव मदद की बात कही। 

लेकिन उन्होंने भी अपने ही सरकार की शराबबंदी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि पुलिस और उत्पाद विभाग की मिलीभगत से शराब बेची जा रही है। अगर पुलिस सख्त हो जाये तो शराब कारोबारी अपना धंधा बंद कर लेंगे। जब शराब ही नही मिलेगा तो ग्रामीण पियेंगे कहाँ से और पियेंगे नही तो मौत होगी कहाँ से। इसके लिए सांसद ने पुलिस और उत्पाद विभाग को जिम्मेवार माना है।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News