मंत्री के बयान पर भाजपा का पलटवार... मुरारी गौतम व्यवसायियों से मांगे माफी, CM नीतीश में भरोसा नहीं तो दे दें इस्तीफा

मंत्री के बयान पर भाजपा का पलटवार... मुरारी गौतम व्यवसायियों से मांगे माफी, CM नीतीश में भरोसा नहीं तो दे दें इस्तीफा

पटना. बिहार के पंचायती राज मंत्री मुरारी कुमार गौतम के बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है। भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने कहा है कि बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री मुरारी कुमार गौतम का यह बयान बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा व्यवसायियों की पार्टी है और व्यवसायी लोग ही शराब बेचते हैं। मुरारी गौतम का यह बयान बिहार ही नहीं देश के समस्त व्यवसायी वर्ग का अपमान है। यह बिहार के बिजनेस कम्युनिटी के अपमान साथ-साथ अप्रत्यक्ष रूप से शर्मनाक जातिवादी बयान भी है।

निखिल ने मंत्री के बयान पर कई सवाल खड़े करते हुए कहा कि बिहार सरकार के मंत्री अनर्गल बयानबाजी से देश-दुनिया में बिहार की जगहंसाई करा रहे हैं। किसी भी पार्टी से जुड़ा कोई भी व्यक्ति शराब का बिजनेस कर रहा है तो सरकार पकड़ क्यों नहीं रही है बल्कि चुप क्यों है? पुलिस-प्रशासन माफियाओं के इशारे पर काम कर रही है क्या? मुरारी गौतम को अगर शराब व्यवसायियों का नाम-पता मालूम है तो वे सार्वजनिक क्यों नहीं कर रहे हैं? मुरारी जी को लगता है कि नीतीशजी का कंट्रोल खत्म हो गया है तो सीएम से इस्तीफा मांगें! यही नहीं, मंत्री मुरारी गौतम को नीतीश कुमार में भरोसा नहीं और वे अगर सीएम को अक्षम-अकर्मण्य बता रहे हैं तो खुद भी मंत्री पद इस्तीफा दे सकते हैं!

निखिल आनंद ने आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार के मंत्रियों के ऐसे ही घटिया मानसिकता और बयानबाजी के कारण प्रदेश में उद्योग-धंधों की चौपट स्थिति है। बिहार सरकार शराब माफियाओं, खनन माफियाओं और आपराधिक गिरोह के गठजोड़ से एक सिंडिकेट चला रही है, जो बिहार को एक बार फिर से अंधकार युग में ले जा रहे हैं। इन्हीं लोगों की वजह से उद्योग-धंधे और बिजनेस-रोजगार के फलने-फूलने की जगह मर्डर, रेप, किडनैपिंग, फिरौती का उद्योग खड़ा हो गया है।

Find Us on Facebook

Trending News