भाजपा राजधर्म निभाए न कि लोगों को पाकिस्तान जाने का सुझाव दे... भारत में असुरक्षा के सिद्दीकी के समर्थन में उतरे शिवानंद तिवारी

भाजपा राजधर्म निभाए न कि लोगों को पाकिस्तान जाने का सुझाव दे... भारत में असुरक्षा के सिद्दीकी के समर्थन में उतरे शिवानंद तिवारी

पटना. राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी का अपने बच्चों को भारत के बदले विदेश में बसने का सुझाव देने पर भाजपा का सिद्दीकी को पाकिस्तान चले जाने का तंज राजद को नागवार गुजरा है. राजद नेता शिवानंद तिवारी ने सिद्दीकी का समर्थन करते हुए भाजपा को चिंतन करने का सुझाव दिया है. उन्होंने कहा कि देश का माहौल ऐसा है कि एक बड़ी अल्पसंख्यक आबादी के मन में ये भाव है कि इस देश में हम सुरक्षित नहीं हैं और बेहतर होगा की हम बाहर चले जाएं. देश में शासन चलाने वाली पार्टी इस बात पर चिंतन नहीं कर रही है. 

उन्होंने कहा कि भाजपा नेता निखिल आनंद का सिद्दीकी को पाकिस्तान चले जाने का सुझाव देना अनुचित है. यह दिखाता है कि देश में शासन चलाने वाली पार्टी लोगों की चिंता नहीं कर रही है. अगर सिद्दीकी जैसे आदमी देश को लेकर यह बात कर रहे हैं. पहले इसी तरह आमिर खान ने कहा था तो यह दिखाता है कि देश का माहौल ऐसा है कि एक बड़ी अल्पसंख्यक आबादी के मन में ये भाव है कि इस देश में हम सुरक्षित नहीं हैं. उन्होंने कहा कि राजधर्म क्या कहता है कि सभी नागरिक सुरक्षित महसूस करें. यह सत्ता में मौजूद सरकार की जवाबदेही है. लेकिन आप बेशर्म की तरह दूसरों को पाकिस्तान जाने कह रहे हैं. 

वहीं अपने बच्चों को विदेशी नागरिकता लेने की सलाह पर राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने भी भाजपा नेता के बयान पर आपत्ति जताई. उन्होंने निखिल आनंद की टिप्पणी पर कहा कि आज कल सबसे सस्ती गाली हो गई है कि पाकिस्तान चले जाओ, पाकिस्तान तुम्हारा बाप-दादा होगा हमारा नहीं है. हमारे बाप- दादा भारत में हैं भारत में रहे हैं और हम भी यहीं रहेंगे. निखिल आनंद ने कहा था कि अब्दुल बारी सिद्दीकी का मन भारत में नहीं लग रहा है, वे परिवार सहित पाकिस्तान जा सकते हैं.

अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा था कि मैं तो अपने बच्चों से कहता हूं कि यहां का माहौल ठीक नहीं है, तुम लोग रह नहीं पाओगे. इसलिए विदेश में ही बस जाओ, वहीं की नागरिकता ले लो. इस पर भाजपा ने उन पर तीखा हमला बोला है और उन्हें पाकिस्तान में जाकर बसने की सलाह दी है. बिहार भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा, 'सिद्दीकी का बयान भारत विरोधी है. यदि वह यहां डरा महसूस करते हैं तो फिर भारत में मिलने वाली सुविधाएं छोड़ें और पाकिस्तान चले जाएं. उन्हें कोई रोकेगा नहीं.



Find Us on Facebook

Trending News