बुरे फंसे 11 बार कोरोना टीका लगवाने वाले ब्रह्मदेव मंडल, अब जेल भेजने की तैयारी

बुरे फंसे 11 बार कोरोना टीका लगवाने वाले ब्रह्मदेव मंडल, अब जेल भेजने की तैयारी

पटना. 11 बार कोरोना टीके की खुराक लेने का दावा करने वाले  ब्रह्मदेव मंडल के खिलाफ बिहार पुलिस ने  प्राथमिकी दर्ज की है. मधेपुरा जिला के उदाकिशुनगंज अनुमंडल अंतर्गत पुरैनी थाना के ओराय गांव निवासी ब्रह्मदेव मंडल ( 84 वर्षीय) का दावा है कि उसने अब तक कोरोना वैक्सीन की 11 डोज ली है. इतना ही नहीं उसका यह भी दावा है कि वैक्सीन से उसे काफी फायदा हुआ है, जिस कारण से वे इसे बार-बार ले रहा है. 

हालांकि मंडल का यह दावा अब उनके लिए जी का जंजाल बन गया है. नियमों के तहत कोई भी व्यक्ति टीकों की दोनों खुराक मात्र एक बार ही ले सकता है. लेकिन मंडल ने एक के बाद एक 11 बार टीके लगवाने का दावा किया है. इस मामले में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  (पीएचसी) पुरैनी ने ब्रह्मदेव मंडल के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। पुरैनी थाना प्रभारी ने मंडल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने की पुष्टि की है. इतना ही नहीं मंडल ने कहा था कि वह 12वीं बार वैक्सीन लेने के लिए चौसा पीएससी आया था, लेकिन वहां वैक्सीनेशन का काम बंद होने के कारण वह अपना 12वां डोज नहीं ले पाया. मंडल जब 12वां डोज लेने पहुंचे तब इनका भेद सबके सामने आ गया. ब्रह्मदेव मंडल की उम्र आधार कार्ड पर 84 वर्ष है. वह डाक विभाग में काम भी करता था. फिलहाल सेवानिवृति के बाद गावं में ही रहता है.

बताया जा रहा है कि ब्रह्मदेव ने 8 बार आधार कार्ड और एक मोबाइल नंबर पर टीका  लिया, जबकि 3 बार मतदाता पहचानपत्र और पत्नी के मोबाइल नंबर पर टीका लगवाया था. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि ऑफलाइन कैंपों में लोग ऐसी गड़बड़ी कर सकते हैं. 

उन शिविरों में आधार  नंबर और मोबाइल नंबर लिया जाता है जो बाद में कंप्यूटर में फीड किया जाता है. अगर वह विवरण सही नहीं होता है तो उसे रिजेक्ट कर दिया जाता है. वहीं मंडल के दावे के बाद स्वास्थ्य महकमा भी हरकत में आया. इस मामले में संबंधित कर्मियों को नोटिस जारी हुआ है. वहीं अब मंडल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. 


Find Us on Facebook

Trending News