ब्रजेश ठाकुर पर कसा कानून का शिकंजा, जेल अस्पताल से भेजा गया सलाखों के पीछे, अब रिमांड की तैयारी

ब्रजेश ठाकुर पर कसा कानून का शिकंजा, जेल अस्पताल से भेजा गया सलाखों के पीछे, अब रिमांड की तैयारी

MUZAFFARPUR  : मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ अब कानून का शिकंजा कसता जा रहा है। उसको जेल अस्पताल से अब वार्ड में भेज दिया गया है।  ब्रजेश के जेल में लौटने के बाद CBI ने उसको रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी है। कल ही जेल में छापा के दौरान उसके पास से एक अहम कागज बरामद हुआ था जिसमें अलग-अलग बैंकों से ढाई करोड़ रुपये निकालने का ब्योरा दर्ज है। उसके पास मिले 40 फोन नम्बरों से भी कई राज खुल सकते हैं।

केवल पांच दिन ही जेल वार्ड में रहा है ब्रजेश

ब्रजेश ठाकुर 2 जून को गिरफ्तार हुआ था। तब से वह केवल पांच दिन ही जेल के वार्ड में रहा था। बीमारी के नाम पर वह जेल के अस्पताल में भर्ती हो गया था। फिर उसे एसकेएमसीएच अस्पताल  में दाखिल कराया  गया था। वहां से वह फिर जेल अस्पताल आया था। कल छापेमारी के दौरान ब्रजेश को घूमते पाया गया था। मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक उसे कमर दर्द, उच्च रक्तचाप और मधुमेह की शिकायत है। लेकिन उसकी हालत ऐसी नहीं है कि उसे अस्पताल में रखना पड़े। इसके बाद उसे जेल के वार्ड में भेज दिया गया।

CBI ने ब्रजेश की मेडिकल रिपोर्ट तैयार करायी

CBI  ने मेडिकल बोर्ड से ब्रजेश ठाकुर की मेडिकल रिपोर्ट तैयार करायी है। इस रिपोर्ट के आधार पर CBI ब्रजेश को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अर्जी देगी। सीबीआइ ब्रजेश के बेटे से पूछताछ कर चुकी है। अब वह सीधे ब्रजेश से पूछताछ करना चाहती है।

Find Us on Facebook

Trending News