BREAKING NEWS: 32 साल पुराना मामला, 5 महीनों की सजा, और अंत में कोर्ट ने JAP सुप्रीमो को किया ‘बाइज्जत बरी’

BREAKING NEWS: 32 साल पुराना मामला, 5 महीनों की सजा, और अंत में कोर्ट ने JAP सुप्रीमो को किया ‘बाइज्जत बरी’

N4N DESK: 32 साल पुराने मामले में विगत 5 महीनों से जेल में बंद पूर्व सांसद पप्पू यादव सोमवार को बाइज्जत बरी हो गए। आज उनकी जमानत याचिका पर फैसला सुनाया जाना था। इसके लिए उन्हें डीएमसीएच से कड़ी सुरक्षा के बीच मधेपुरा कोर्ट ले जाया गया। जहां पूर्व में हुई जमानत याचिका पर फैसला सुनाया गया। विदित हो कि इस याचिका के फैसले को पहले से ही सुरक्षित रखा गया था, जिसे आज पूर्व सांसद की मौजूदगी में सुनाया गया।

कोर्ट द्वारा जैसे ही उन्हें बाइज्जत बरी किया गया, पूर्व सांसद का सीना चौड़ा हो गया। जिसके बाद समर्थकों सहित कोर्ट से बाहर आते ही जाप सुप्रीमो ने ट्वीट कर सीधे-सीधे सरकार पर निशाना साधा। उन्होनें सरकार को षड़यंत्रकारी बताया और लिखा कि जिस साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया, वह बेनकाब हुआ। जनता के आशीर्वाद से वह दोबारा उनके बीच आ गए हैं। इसके साथ ही उन्होनें फैसले के लिए न्यायालय का भी आभार जताया है।

मधेपुरा जिला के मुरलीगंज थाना कांड संख्या 9/89 मामले में पप्पू यादव 5 महीने से जेल में बंद थे। 32 साल पुराने अपहरण के इस मामले में पप्पू पर अपने साथी का ही अपहरण करने का आरोप लगा था, जिसमें वे लम्बे समय से फरार बताए जा रहे थे। बीते 11 मई को पटना में उन्हें गिरफ्तार किया गया था, तबसे वह जेल में थे। 24 सितंबर को हुई कोर्ट में हाजिरी में कार्रवाई के संबंध में जानकारी देते हुए पप्पू यादव के अधिवक्ता मनोज कुमार अम्बष्ठ ने बताया कि सीआरपीसी की धारा 313 के तहत उन्होंने बयान दर्ज कराया है। बेल के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि वह माननीय उच्च नयायालय में लंबित था।

वहीं, पूर्व सांसद पप्पू यादव को जन प्रतिनिधियों से संबंधित विशेष अदालत एडीजे-3 की कोर्ट में हाजिर किया गया था इस दौरान पूर्व सांसद ने अपना बयान रिकॉर्ड करवाया गया। पप्पू यादव ने कोर्ट को बताया कि उनकी किडनी में स्टोन हो गया है। जिसका ऑपरेशन दिल्ली में कराना है, इसलिए इलाज के लिए दिल्ली जाने की उन्होंने अनुमति दी जाए। उन्होंने कोर्ट से मामले पर जल्द सुनवाई कर खत्म करने की भी अपील की। जिसपर कोर्ट ने देखने की बात कही। इसके बाद उन्हें दोबारा एम्बुलेंस से डीएमसीएच भेज दिया गया था।

मालूम हो कि 12 मई को पटना से पप्पू यादव को एक मामले में गिरफ्तारी के बाद जारी वारंट के आधार पर गिरफ्तार कर मधेपुरा कोर्ट लाया गया था। जहां से लोअर कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजते हुए क्वारेंटाइन जेल बीरपुर शिफ्ट कर दिया था। क्वारेंटाइन जेल बीरपुर में रहते हुए बीमारी के ग्राउंड पर वे डीएमसीएच भेजे गए थे।


Find Us on Facebook

Trending News