ब्रिगेडियर संगम झा का पार्थिव शरीर पहुंचा गांव, सेना के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर के साथ दी अंतिम विदाई, भारत मां की जय के नारों से गुंजायमान हो गया पूरा गांव

ब्रिगेडियर संगम झा का पार्थिव शरीर पहुंचा गांव, सेना के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर के साथ दी अंतिम विदाई, भारत मां की जय के नारों से गुंजायमान हो गया पूरा गांव

NAUGACHIA : नवगछिया अनुमंडल के गोपालपुर प्रखंड अंतर्गत सैदपुर गांव निवासी सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर संगम झा का निधन  कल लगभग 1:30 बजे दोपहर में उत्तर प्रदेश नोएडा के स्थित अपने घर पर हृदय गति रुकने के कारण हो गया। उनके निधन पर गोपालपुर प्रखंड सहित पूरे सैदपुर गांव में शोक की लहर दौर गई ।ब्रिगेडियर संगम कुमार झा के  परिजनों को सांत्वना देने वालों की दिनभर भीड़ लगी रही ।

परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार संगम कुमार झा वर्ष 1982 में सैनिक स्कूल तिलैया से एनडीए पास कर सैनीक सेवा में अपना योगदान दिए थे। वह पढ़ने में मेधावी होने के कारण कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा, उनके दो संतान हैं किशन और शिल्पा झा जो राजस्थान मे इंजीनियरिंग पद पर कार्यरत है।ब्रिगेडियर वर्ष 1986 में सेकंड लेफ्टिनेंट पद पर कार्यरत होने के दौरान दिल्ली के राजपथ पर सलामी का भी नेतृत्व कर चुके हैं यह देश के कई हिस्सों में सैन्य अधिकारी के रूप में कार्य किए हैं। इनके निधन पर इनके भाई इनकी मां एवंम परिजनों ने गहरा शोक व्यक्त किया।

भाई सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक विजय झा ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यह परिवार के ऊपर काफी गहरा दुःख का समय है।उनके जाने से ना सिर्फ़ परिवार को अतुलनीय क्षति हुई है बल्कि पूरा गांव शोक में डूबा है। 

गौरतलब हो कि ब्रिगेडियर संगम कुमार झा बरेली केम्प से कुछ माह पूर्व ही सेवानिवृत हुए थे , अचानक हृदय गति रुकने के कारण  नोएडा में ही उनकी मृत्यु हो गयी,परिजनों ने बताया कि वो डोगरा रेजीमेंट फैज़ाबाद में भी कार्य कर चुके थे । आज उनका पार्थिव शरीर अपने आवास सैदपुर पहुंचा जहां सेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दी वहीं भारत माता की जय के नारों से पूरा गांव गुंजायमान हो गया


Find Us on Facebook

Trending News