बहनजी की हनक : मायावती के साथ मंच सांझा करने के लिए RLD प्रमुख को उतारने पड़े जूते, हैरान रह गए अजित सिंह

बहनजी की हनक : मायावती के साथ मंच सांझा करने के लिए RLD प्रमुख को उतारने पड़े जूते, हैरान रह गए अजित सिंह

 बसपा प्रमुख मायावती के सामने कोई जूते पहनकर बैठे यह उन्हें पसंद नहीं है। इसका नमूना देवबंद में आयोजित महागठबंधन के चुनावी सभा में देखने को मिला। दरअसल देवबंद में महागठबंधन की ओर से एक चुनावी कार्यक्रम था। जिसमें बसपा, सपा और आरएलडी प्रमुख पहुंचे थे। इस दौरान आरएलडी प्रमुख को मायावती के साथ मंच साझा करने के लिए अपने जूते उतारने पड़े। 

पिछले लोकसभा चुनाव मेंमायावतीभले ही एक भी सीट पर जीत नहीं दर्ज कर पाई थीं, लेकिन इस बार के लोकसभा चुनाव में एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन में धुरी बन चुकी हैं। महागठबंधन की रैलियों, कार्यक्रमों से लेकर स्टेज पर कौन-कहां बैठेगा, कौन-कब बोलेगा ये सब मायावती तय कर रही हैं। गठबंधन में यह उनकी हनक का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक कार्यक्रम में मंच साझा करने के लिए आरएलडी प्रमुख अजित सिंह को अपने जूते उतारने पड़ गए।

पहले चरण के चुनाव से पहले सहारनपुर के देवबंद में हुई महागठबंधन की रैली में मायावती के प्रोटोकॉल से एक पल को आरएलडी अध्यक्ष अजित सिंह भी हैरान रह गए। दरअसल अजित सिंह ने जैसे ही मायावती और अखिलेश के पीछे-पीछे मंच पर चढ़ना शुरू किया, तभी बीएसपी के एक को-ऑर्डिनेटर ने अजित सिंह से जूते उतारने के लिए कह दिया। उसने आरएलडी अध्यक्ष को बताया कि मायावती को पसंद नहीं है कि मंच पर उनके सामने कोई जूते पहनकर बैठे, सिवाय खुद उनके।

मायावती जब मुख्यमंत्री थीं, तब भी वह अपने इसी अंदाज के लिए जानी जाती थीं। कोई मंत्री या अफसर उनसे तभी मिल सकता था, जब वह उनके कैंप ऑफिस के बाहर ही जूते उतारकर आया हो। हालांकि उनके करीबियों का कहना है कि 'बहनजी' को धूल से ऐलर्जी है, इसलिए उन्होंने इसे प्रोटोकॉल बना दिया है।


Find Us on Facebook

Trending News