छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के जवान का शव पहुंचा गया, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के जवान का शव पहुंचा गया, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

GAYA: छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के 25 वर्षीय जवान मुन्ना कुमार की मौत ड्यूटी के दौरान अचानक अज्ञात बीमारी के कारण हो गई थी। सोमवार को सेना के जवान का शव उनके पैतृक गांव वजीरगंज के कुम्हरेत लाया गया। शव के पहुंचते ही पूरे गांव में कोहराम मच गया। हजारों लोगों ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। 

बता दें कि मुन्ना कुमार सत्येंद्र यादव का पुत्र था जो 2013 में छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स की 17वीं बटालियन में बहाल हुआ था। उनकी मौत से विधवा पत्नी, माता, पिता सत्येंद्र यादव एवं दो छोटे भाइयों का रो-रो कर बुरा हाल है। 

 पलाटून कमांडर निसरायला खान ने बताया कि मुन्ना कुमार को ड्यूटी के दौरान एक गंभीर बीमारी ने अपने चपेट में ले लिया था,  जिससे उसकी मौत हो गई। विभाग से सभी प्रकार के आवश्यक कार्रवाई पूरी कर ली गई है। गांव में ही उसका अंतिम संस्कार किया गया। छोटे  भाई मिंटू कुमार ने मुखाग्नि दी तथा विभाग के अधिकारियों एवं कांस्टेबलों ने सलामी देकर अंतिम विदाई दी।

 बता दें कि मुन्ना कुमार का हाल ही में शादी हुई थी एवं पत्नी अभी गर्भवती है। मुन्ना अपने परिवार का एकलौता कमाने वाला पुत्र था। उसके पिता छोटे मोटे किसान हैं। अंतिम संस्कार के वक़्त हज़ारों की संख्या में प्रबुद्धजनों एवं आम नागरिकों ने नम आँखों से अंतिम विदाई दी ।


Find Us on Facebook

Trending News